चेन्नई में नगर निगम के आदेश का दिखा असर, पूरी तरह बंद रहे भीड़भाड वाले नौ मार्केट

- बाजार में पुलिस रही मुस्तैद

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 31 Jul 2021, 03:58 PM IST

चेन्नई.

कोरोना की तीसरी लहर की संभावित चेतावनी के बाजवूद लोग सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी, लापरवाही और बाजारों में उमड़ती बेकाबू भीड़ अब व्यापारियों के लिए परेशानी बनती जा रही है। इसके चलते ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन ने 9 अगस्त, 2021 तक उन नौ बाजारों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद करने का आदेश दिया है, जहां बड़ी संख्या में लोग इक_ा होते हैं। बाजार बंद करने का उद्देश्य कोरोना वायरस के प्रसार को रोकना है लेकिन इससे लोगों की आजीविका प्रभावित जरूर होगी।

बंद होने वाले मार्केट ये है-

ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोशन एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि टी. नगर के रंगनाथन स्ट्रीट से माम्बलम रेलवे स्टेशन तक बाजार बंद रहेंगे। इसके साथ ही पुरुषवाक्कम- डोवेटन जंक्शन से ब्रिकक्लिन रोड जंक्शन, भारती सालै रत्न कैफे जंक्शन से बेल्स रोड जंक्शन तक, फकीर साहिब स्ट्रीट, हबीबुल्ला स्ट्रीट, पुलीपोन बाजार, एनएससी बोस रोड-कुरालगम जंक्शन से मिंट स्ट्रीट जंक्शन तक, रायपुरम कलमंडपम सालै, पानी की टंकी से कामची अम्मान कोइल, अमेंजीकरै पुलिस चौकी से पुला एवेन्यू तिरुविका पार्क जंक्शन तक और रेड हिल्स अंजनेयर प्रतिमा से अंबेडकर की प्रतिमा तक बाजार बंद रखे जाएंगे। जीसीसी के मुताबिक कोतवालचावड़ी बाजार भी 1 अगस्त से 9 अगस्त 2021 तक बंद रहेगा।

आदेश का पालन
चेन्नई नगर निगम के आदेश के बाद शनिवार को टी. नगर के रंगनाथन स्ट्रीट से माम्बलम रेलवे स्टेशन तक बाजार पूरी तरह बंद रहा। हालांकि ऐसे लोग जिन्हें बाजार बंद होने की जानकारी नहीं थी, वे खरीदारी करने के इरादे से बाजार पहुंचे लेकिन उन्हें निराश होकर घर लौटना पड़ा। ऐसे में बाजार में सुबह के समय चहल-पहल देखने को मिली। बंद का ईमानदारी से पालन सुनिश्चित हो इसके लिए पुलिस की टीमें पूरे दिन बाजार में गश्त करते हुए नजर आई। बंद के आदेश का उल्लंघन करते हुए कई दुकानदारों ने चोरी-छुपे दुकान खोलने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने उन पर सख्ती दिखाते हुए उन्हें घर लौटा दिया।

व्यापारी निराश हुए
बाजार बंद करने के प्रशासनिक आदेश को लेकर टी नगर के व्यापारियों ने ने समस्या के स्थायी समाधान पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि आदेश के बाद जब भी दोबारा बाजार खुलेगा तो भीड़भाड़ दोबारा बढ़ेगी, ऐसे में बंद समस्या का स्थायी समाधान नहीं है। कोरोना महामारी के बीच प्रशासन का यह आदेश दुकानदारों के लिए आर्थिक नुकसान का कारण बन सकता है।

लापरवाही के कारण मजबूरन बाजार बंद
ज्ञातव्य है कि कोरोना नियमों को लेकर टी नगर समेत बड़े बड़े बाजारों में लगातार बरती जा रहा लापरवाही के कारण मजबूरन दस दिन के लिए बाजार को बंद करने का आदेश जारी किया गया। एक दुकानदार बालाजी ने बताया कि 9 अगस्त के बाद बाजार में कोरोना नियम का पालन सुनिश्चित करेंगे। साथ ही कोई भी दुकानदार दुकान के बाहर अतिक्रमण नहीं करेगा। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी होगा।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned