scripthigh court hearing | दैवीय प्रकोप की आशंका... विवाह समारोह के दौरान मद्रास हाईकोट के जस्टिस ने उठाया ये कदम | Patrika News

दैवीय प्रकोप की आशंका... विवाह समारोह के दौरान मद्रास हाईकोट के जस्टिस ने उठाया ये कदम

सोमवार तक सुनवाई नहीं होने पर दैवीय प्रकोप के अंदेशे से लगाई थी गुहार...इतिहास में पहली बार 'वॉट्सएप' के जरिए सुनवाई... विवाह समारोह के दौरान ही की गई सुनवाई

चेन्नई

Published: May 17, 2022 11:08:28 pm

चेन्नई. मद्रास हाईकोर्ट के इतिहास में पहली बार जस्टिस ने किसी मामले की सुनवाई 'ह्वॉट्सऐप' के जरिए की। दरअसल जस्टिस जीआर स्वामीनाथन रविवार को एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए नागरकोइल गए थे। उन्होंने वहीं से इस मामले की सुनवाई की, जिसमें श्री अभीष्ट वरदराजा स्वामी मंदिर के वंशानुगत न्यासी पीआर श्रीनिवासन ने दलील दी थी कि यदि सोमवार को उनके गांव में प्रस्तावित रथ महोत्सव आयोजित नहीं किया गया तो गांव को 'दैवीय प्रकोप' का सामना करना पड़ेगा।
हाईकोर्ट ने अपने आदेश के शुरुआती वाक्य में कहा रिट याचिकाकर्ता की इस उत्कट प्रार्थना की वजह से मुझे नागरकोइल से आपात सुनवाई करनी पड़ी है और 'ह्वॉट्सऐप' के माध्यम से मामले की सुनवाई की जा रही है। इस सत्र में जस्टिस नागरकोइल से मामले की सुनवाई कर रहे थे, याचिकाकर्ता के वकील वी राघवाचारी एक स्थान पर थे और महाधिवक्ता आर षणमुगसुंदरम शहर में दूसरी जगह से इसमें भाग ले रहे थे। यह विषय धर्मपुरी जिले के एक मंदिर से जुड़ा हुआ है।
मंदिर महोत्सवों में नियम व शर्तों का पालन हो
जस्टिस ने मंदिर के अधिकारियों को निर्देश दिया कि मंदिर के महोत्सवों के आयोजन के दौरान सरकार की ओर से निर्धारित नियम और शर्तों का कड़ाई से पालन किया जाए। साथ ही कहा कि सरकारी विद्युत वितरक कंपनी तांजेडको रथयात्रा शुरू होने से लेकर इसके डेस्टिनेशन पर पहुंचने तक कुछ घंटे के लिए क्षेत्र की बिजली सप्लाई काट देगी। दरअसल तंजावुर के पास पिछले महीने एक मंदिर की रथयात्रा के दौरान हाईटेंशन बिजली के तार के संपर्क में आने से 11 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी और 17 अन्य घायल हो गए थे।
सरकार की चिंता आम जनता की सुरक्षा
जस्टिस ने कहा हिंदू धार्मिक और परमार्थ विभाग से अटैच इंस्पेक्टर को मंदिर प्रशासन व न्यासी को रथयात्रा रोकने का आदेश जारी करने का अधिकार नहीं है। उन्होंने इस आदेश को खारिज कर दिया। इस मामले में महाधिवक्ता ने न्यायाधीश से कहा सरकार को महोत्सव के आयोजन से कोई दिक्कत नहीं है। सरकार की एकमात्र चिंता आम जनता की सुरक्षा की है। उन्होंने कहा सुरक्षा मानकों का पालन नहीं होने की वजह से तंजावुर जिले में हाल ही ऐसी ही एक रथयात्रा में बड़ा हादसा हो गया था।
दैवीय प्रकोप की आशंका... विवाह समारोह के दौरान मद्रास हाईकोट के जस्टिस ने उठाया ये कदम
दैवीय प्रकोप की आशंका... विवाह समारोह के दौरान मद्रास हाईकोट के जस्टिस ने उठाया ये कदम
रदरजा पेरुमल मंदिर में श्रृद्धालुओं के दर्शन के लिए व्यवस्था तय की

मद्रास उच्च न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि कांचीपुरम के वरदरजा पेरुमल मंदिर में पहली दो से तीन कतारों में तेनकलाई पंथ के श्रद्धालुओं को लगने की अनुमति होनी चाहिए और उनके पीछे वडकलाई पंथ और अन्य श्रद्धालुओं को शेष बची जगह में बैठने की अनुमति दी जाए।
न्यायमूर्ति एस एम सुब्रमण्यम ने 14 मई की आधी रात को मंदिर के सहायक आयुक्त-अधिशासी न्यासी द्वारा जारी एक नोटिस को चुनौती देने वाली एस नारायणन नामक व्यक्ति की रिट याचिका पर आदेश पारित करते हुए यह निर्देश दिया। नोटिस में तेनकलाई पंथ के लोगों को ही प्रबंधम (तमिल गीतों का संग्रह) गाने की और मंदिर में चल रहे ब्रह्मोत्सवम की रस्मों में शामिल होने की अनुमति दी गई थी। तेनकलाई और वडकलाई वैष्णव पंथ हैं। न्यायाधीश ने कहा तथ्यों और परिस्थितियों पर विचार करते हुए इस अदालत की राय है कि श्रद्धालुओं, अनुयायियों के धार्मिक अधिकारों का संरक्षण करना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

हैदराबाद : बीजेपी की बैठक का आज दूसरा दिन, पीएम मोदी करेंगे संबोधितNIA की टीम ने केमिस्ट की हत्या की जांच के लिए महाराष्ट्र के अमरावती का किया दौराभाजपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 'अर्थव्यवस्था' और 'गरीब कल्याण' पर प्रस्ताव किया पारित, साथ ही की 'अग्निपथ योजना' की सराहनाAmravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईश्रेयस अय्यर का टेस्ट करियर खतरे में पड़ा, इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के बाद टीम इंडिया से होगी छुट्टी!Indian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.