scriptHindi Imposition: TamilNadu Leaders Condemn Amit Shah's Statement | तमिलनाडु में फिर गरमाया भाषा विवाद: शाह की हिन्दी वाली टिप्पणी के बाद विरोध मार्च निकालेंगे राजनीतिक दल | Patrika News

तमिलनाडु में फिर गरमाया भाषा विवाद: शाह की हिन्दी वाली टिप्पणी के बाद विरोध मार्च निकालेंगे राजनीतिक दल

राज्य के कई इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है, जहां हिंसा भडकऩे की संभावना है।

चेन्नई

Published: April 09, 2022 04:41:42 pm

चेन्नई.

केंद्रीय मंत्री अमित शाह के हिंदी को संचार माध्यम बनाने के बयान को लेकर तमिलनाडु में संभावित हिंसा की खुफिया सूचना मिलने के बाद तमिलनाडु पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एम.के. अलगिरी, शाह के बयान के खिलाफ हैं। राज्य के कई इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है, जहां हिंसा भडकऩे की संभावना है।

Hindi Imposition: TamilNadu Leaders Condemn Amit Shah's Statement
Hindi Imposition: TamilNadu Leaders Condemn Amit Shah's Statement

राज्य पुलिस के एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी के अनुसार, ये निवारक उपाय तमिल समाज सुधारक ईवी रामास्वामी पेरियार के आदर्शो पर आधारित दलित संगठन विदुथलाई चिरुथिगल कच्ची (वीसीके) और द्रविड़ कडग़म (डीके) के बाद आई है, जिसके खिलाफ राज्यभर में विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया गया था।

वीसीके के संस्थापक नेता और संसद सदस्य, थोल थिरुमावलवन ने कहा, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का बयान भाजपा के फासीवादी मंसूबों का हिस्सा है और तमिलनाडु के लोग राज्य में हिंदी भाषा को थोपने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री के इस बेहद भडक़ाऊ बयान के खिलाफ पार्टी राज्यभर में विरोध मार्च निकालेगी। थोल थिरुमावलवन ने कहा कि पार्टी कार्यकारिणी समिति ने केंद्रीय गृह मंत्री के बयान के खिलाफ विरोध कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की है।

अमित शाह और भाजपा तमिलनाडु के इतिहास और राज्य में हिंदी भाषा को थोपने के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शनों को नहीं जानते हैं। संपर्क के लिए एक भाषा थोपने से देश की जनता में दरार पैदा होगी और विभाजन होगा और भाजपा को ऐसा करने से बचना चाहिए।

हालांकि, उन्होंने विरोध मार्च की योजना की तारीख के बारे में विस्तार से नहीं बताया। राज्य के खुफिया सूत्रों ने बताया कि राज्य पुलिस कुछ खास इलाकों में विरोध प्रदर्शन के लिए तैयार है, जहां पार्टी मजबूत है।

द्रविड़ कडग़म (डीके) नेता के. वीरमणि ने यह भी कहा कि संगठन तमिलनाडु के लोगों पर हिंदी थोपने के केंद्र सरकार के मनमाने कदम के खिलाफ पूरे तमिलनाडु में विरोध मार्च करेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.