एचआईवी संक्रमित युवक का हुआ पोस्टमार्टम

- मदुरै राजाजी अस्पताल में हुई थी मौत

-इसी युवक का खून चढ़ाया गया था गर्भवती को

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 03 Jan 2019, 04:08 PM IST

मदुरै. एचआईवी संक्रमित युवक जिसकी रविवार को राजाजी सरकारी अस्पताल में मौत हो गई थी का पोस्टमार्टम बुधवार को हुआ। युवक ने संक्रमण का पता चलने के बाद जहर पी लिया था। उसका अस्पताल में इलाज चल रहा था।
सरकारी राजाजी अस्पताल के प्रभारी डीन डा. एस. षणमुगसुंदरम ने बताया कि डा. सेल्वराज (फॉरेंसिक विभाग के प्रमुख) की अगुवाई वाली टीम में मदुरै मेडिकल कॉलेज की डा. जूलियाना, तेनी मेडिकल कॉलेज से डा. अरुण कुमार व डा. आर. चंद्रशेखर शामिल थे।
मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै शाखा के निर्देश पर पूरे पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी हुई। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। हाईकोर्ट के निर्देश की वजह से उपजे संशय की वजह से दस बजे की बजाय पोस्टमार्टम देरी से दोपहर में शुरू हुआ। इस बीच हाईकोर्ट का स्पष्ट निर्देश आया कि पोस्टमार्टम टीम में तेनी राजकीय मेडिकल कॉलेज के दो डॉक्टर शामिल रहे।
जस्टिस पुगलेंदी ने ३१ दिसम्बर को विशेष सुनवाई करते हुए युवक के परिजनों की याचिका पर सुनवाई की थी। याची पक्ष ने पोस्टमार्टम के वक्त अस्पताल के बाहर से दो डॉक्टरों की उपस्थिति और वीडियोग्राफी की मांग की थी। जज ने याची की अर्जी स्वीकार कर ली थी। पीडि़त परिवार ने अस्पताल में बेटे की मौत पर आशंका जताई है।
यह युवक शिवकाशी की फायर यूनिट में काम करता था और उसने सरकारी ब्लड बैंक में ३० नवम्बर को रक्तदान किया था। रक्तदान के वक्त उसे यह नहीं पता था कि वह एचआईवी पॉजीटिव है। यह खून बिना जांच के ही २३ वर्षीय गर्भवती महिला को ३ दिसम्बर को चढ़ा दिया गया।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned