scriptIIT-M new mobile lab facility PARAKH to analysis covid cases in remote | IIT Madras का 'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांच | Patrika News

IIT Madras का 'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांच

मोबाइल डायग्नोस्टिक सुविधा परख एक हाउस वैन है, जिसे कोविड-19 संक्रमण के नमूनों के परीक्षण के लिए दूर-दराज के ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्रों में तैनात किया जा सकता है

चेन्नई

Updated: January 22, 2022 06:20:20 pm

चेन्नई. दूर-दराज के ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्रों में कोरोना सहित अन्य वायरल संक्रमण की रियल टाइम जांच को लेकर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास (आईआईटी-एम) ने मोबाइल कोविड-19 डायग्नोस्टिक सुविधा शुरू की है। तमिलनाडु के चिकित्सा व लोक कल्याण मंत्री एम. सुब्रमण्यन ने शनिवार को इस सुविधा का निरीक्षण और मेगा टीकाकरण शिविर का उद्घाटन किया।
IIT Madras का  'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांच
IIT Madras का 'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांच

उन्होंने कहा , मुझे जैव प्रौद्योगिकी उद्योग अनुसंधान सहायता परिषद (बीआईआरएसी), जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) द्वारा स्थापित एक सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम द्वारा आईआईटी-मद्रास को उपहार में दी गई 50 लाख रुपये की लागत से बनी मोबाइल डायग्नोस्टिक सुविधा की समीक्षा करते हुए खुशी हो रही है। इससे सभी को फायदा होगा और इसे एक बड़ी तकनीकी टीम द्वारा संचालित किया जा रहा है।"

सैम्पल संग्रह, प्रोसेसिंग व एनालिसिस
मोबाइल डायग्नोस्टिक सुविधा, जिसे परख कहा जाता है, एक हाउस वैन है, जिसे कोविड-19 संक्रमण का पता लगाने के लिए नमूनों के परीक्षण के लिए तैनात किया जा सकता है। यह वैन सुदूर और ग्रामीण क्षेत्रों में जहां परीक्षण सुविधाएं उपलब्ध नहीं होती, उन स्थानों पर कोरोना के मामलों का पता लगाने के लिए विशेष रूप से उपयोगी होगी। यह वैन इन क्षेत्रों में जाकर नमूना संग्रह कर रियल टाइम तरीके से उसका विश्लेषण भी कर सकती है।

डेंगू, टीबी संक्रमण की भी जांच
कोरोना के अलावा मोबाइल डायग्नोस्टिक सुविधा अन्य उद्देश्यों की भी पूर्ति करेगा। डेंगू, टीबी सहित अन्य वायरल संक्रमण की निगरानी भी वैन में लगे बीएसएल-२ लैब से की जा सकती है। मौजूदा आधुनिक सुविधाओं के अलावा अन्य रोगों की जांच के लिहाज से पोर्टेबल उपकरण भी फिट किए जा सकते हैं।
प्रो. गुहन जयरामन, प्रमुख जैव प्रौद्योगिकी आइआइटी मद्रास
IIT Madras का 'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांचटीकाकरण शिविरों का लाभ लें
संस्थान के निदेशक प्रो. वी. कामकोटि ने कहा मंत्री द्वारा उद्घाटित वैक्सीन कैम्प से टीकाकरण का संदेश जनता तक पहुंचेगा और वे टीका लगवाने आगे आएंगे। बूस्टर डोज भी शुरू हो चुका है। यह जनता का फर्ज है कि वह टीका लगवाए और अपना जीवन सुरक्षित करे। आइआइटी मद्रास ऐसे शिविरों के प्रति पूरी तरह समर्पित और कटिबद्ध है।
IIT Madras का 'परख' ग्रामीण व दुर्गम स्थानों में करेगा Corona की जांच

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टोक्यो पहुंचे, भारतीय प्रवासियों ने किया स्वागत, जापानी बच्चे के हिन्दी बोलने पर गदगद हुए PMदिल्ली-NCR में सुबह आंधी और बारिश से कई जगह उखड़े पेड़, विमान सेवा प्रभावितज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थिति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.