scriptIIT Madras | आईआईटी मद्रास फिर अव्वल, लगातार तीसरे वर्ष के लिए एआरआईआईए रैंकिंग में प्रथम | Patrika News

आईआईटी मद्रास फिर अव्वल, लगातार तीसरे वर्ष के लिए एआरआईआईए रैंकिंग में प्रथम

अटल इनोवेशन रैंकिंग
- आईआईटी मद्रास फिर अव्वल
- अटल रैंकिंग में लगातार तीसरे वर्ष के लिए एआरआईआईए रैंकिंग में प्रथम

चेन्नई

Updated: December 29, 2021 11:40:28 pm

चेन्नई. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास (आईआईटी मद्रास) को लगातार तीसरे वर्ष के लिए भारत में सबसे नवीन शैक्षिक संस्थान के रूप में मान्यता दी गई है। भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल द्वारा शुरू की गई इनोवेशन अचीवमेंट्स पर संस्थानों की अटल रैंकिंग में इसे पहला स्थान दिया गया है।आईआईटी मद्रास सीएफटीआई (केंद्र द्वारा वित्त पोषित तकनीकी संस्थान)/केंद्रीय विश्वविद्यालय/राष्ट्रीय महत्व संस्थान (तकनीकी) श्रेणी में है।
पिछले वर्ष के दौरान 674 एचईआई की तुलना में 1,438 उच्च शिक्षा संस्थानों (एचईआई) (सभी आईआईटी, एनआईटी और आईआईएससी सहित अन्य) ने एआरआईआईए रैंकिंग के तीसरे संस्करण में भाग लिया। एआरआईआईए के इस तीसरे संस्करण में गैर-तकनीकी संस्थानों के लिए एक विशेष ढांचा है जो हमारे शिक्षा संस्थानों में नवाचार और उद्यमशीलता पारिस्थितिकी तंत्र को और मजबूत करेगा।
शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष सरकार ने अतिरिक्त सचिव (तकनीकी शिक्षा) राकेश रंजन, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के अध्यक्ष प्रो. अनिल डी. सहस्रबुद्धे, वाइस चेयरमैन, एआईसीटीई डॉ. एमपी पूनिया, सदस्य सचिव एआईसीटीई प्रो. राजीव कुमार और चीफ इनोवेशन ऑफिसर, इनोवेशन सेल, शिक्षा मंत्रालय डॉ. अभय जेरे, की उपस्थिति में परिणामों की घोषणा की।
नवाचार और उद्यमिता दुनिया भर में शिक्षा प्रणाली का अभिन्न अंग
शिक्षा राज्य मंत्री डॉ सुभाष सरकार ने कहा, एआरआईआईए रैंकिंग हमारे उच्च शैक्षिक संस्थानों को खुद को प्रमुख अंतरराष्ट्रीय शैक्षिक रैंकिंग में स्थान देने के लिए तैयार करेगी और मैं एआरआईआईए रैंकिंग को वैश्विक स्तर पर देखना चाहता हूं क्योंकि नवाचार और उद्यमिता दुनिया भर में शिक्षा प्रणाली का एक अभिन्न अंग बन गया है। परिसरों में नवाचार और उद्यमिता को व्यावसायीकरण और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण से जोड़ा जाना चाहिए। मात्रा से अधिक संस्थान को नवाचारों और अनुसंधान की गुणवत्ता पर ध्यान देना चाहिए। यह हमें सही मायने में आत्म निर्भर भारत हासिल करने में मदद करेगा।
नवाचारों पर बहुत जोर
आईआईटी मद्रास के निदेशक प्रोफेसर भास्कर राममूर्ति ने कहा, हम नवाचार पर अटल रैंकिंग की स्थापना के बाद से लगातार तीसरी बार सबसे नवीन संस्थान चुने जाने पर प्रसन्न हैं। आईआईटी मद्रास अपने छात्रों और फैकल्टी के बीच नवाचारों पर बहुत जोर देता है, जिसके परिणामस्वरूप देश में एक बहुत ही सफल और तेजी से बढ़ती गहरी प्रौद्योगिकी स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र है।
IIT Madras
IIT Madras

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.