कोरोना से जंग में तमिलनाडु के 43 डॉक्टरों ने गवाई जान: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन

- अबतक 196 डॉक्टरों की मौत

- गुजरात और महाराष्ट्र में भी हुई मौतें

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 08 Aug 2020, 09:02 PM IST

चेन्नई.

कोरोना के कारण देश में अब तक 42,626 लोगों की जान जा चुकी है। कोरोना के सामान्य मरीजों के साथ-साथ उनका इलाज करने वाले डॉक्टर भी इसकी चपेट में आए हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के मुताबिक कोरोना के कारण अब तक 196 डॉक्टरों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। इसमें सबसे ज्यादा 43 डॉक्टर तमिलनाडु से हैं।

आईएमए के मुताबिक मार्च से लेकर अबतक 43 डॉक्टर कोरोना वायरस का शिकार हो चुके है। मृतक डॉक्टरों में से अधिकांश चेन्नई, मदुरै और अन्य दक्षिणी जिलों से है। हालांकि राज्य के पश्चिमी जिलों में मौतों की संख्या कम है।

अन्य राज्यों में डॉक्टरों की मौत
तमिलनाडु के अलावा गुजरात और महाराष्ट्र दोनों से 23-23 डॉक्टर, बिहार के 19, पश्चिम बंगाल के 16 और उत्तर प्रदेश के 11 डॉक्टरों को कोरोना के कारण मौत के मुंह में समा गए हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं में अन्य राज्यों से बेहतर माने जाने वाली दिल्ली में भी 12 डॉक्टरों की कोरोना के कारण जान गई है। बताया जा रहा है कि 196 में से 170 डॉक्टरों की उम्र 50 साल से ज्यादा था।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के महासचिव डा. आरवी अशोकन ने कहा कि मरने वाले अनेक डॉक्टर कोरोना मरीजों की देखभाल के दौरान संक्रमित हुए थे, जबकि कई को अस्पताल के संवेदनशील वातावरण में रहने के दौरान संक्रमण हुआ था। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए राष्ट्रीय स्तर पर किसी एक नीति का न होना भी इसके लिए कुछ हद तक जिम्मेदार हो सकता है क्योंकि मरीजों की देखभाल के दौरान अलग-अलग स्टैंडर्ड अपनाए गए थे।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned