संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत का इस्तेमाल करेगा भारत

संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत का इस्तेमाल करेगा भारत

P.S.Vijayaraghavan | Publish: Mar, 05 2019 01:42:46 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

-वायुसेना के कार्यक्रम में राष्ट्रपति कोविंद बोले, हम शांति के लिए प्रतिबद्ध
-सर्जिकल स्ट्राइक को बताया सैनिकों की वीरता का प्रमाण

कोयम्बत्तूर. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को कहा कि भारत शंाति को लेकर प्रतिबद्ध है लेकिन अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत का इस्तेमाल करेगा।
सुलूर वायुसैनिक अड्डे पर वायुसेना की दो यूनिटों को प्रतिष्ठित राष्ट्रपति निशान (प्रजिडन्ट कलर्स) प्रदान करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात कही। राष्ट्रपति ने पुलवामा हमले के बाद आतंकवादियों के खिलाफ वायुसेना की कार्रवाई का जिक्र करते हुए कहा कि हमें शांति पसंद है लेकिन अगर आवश्कता पड़ती है तो भारत राष्ट्रीय संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत का उपयोग करेगा।
राष्ट्रपति ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के बढ़ते कद में सशस्त्र बलों की ताकत और क्षमताओं का भी योगदान है। हम शांति के लिए प्रतिबद्ध हैं लेकिन जरूरत पडऩे पर हम बल का प्रयोग भी करेंगे। तीनों सेनाओं के सर्वोच्च कमांडर कोविंद ने कहा कि मुझे विश्वास है कि सेना में हमारे शूरवीर पुरुष और बहादुर महिला सैनिक ऐसे समय में अपना दमखम दिखाएंगे।
बालाकोट में वायुसेना की सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि हाल ही में एक ज्ञात आतंककारी शिविर पर किए हमले में इनकी वीरता और पेशेवरता देखने को मिली थी। यह हमारे सशस्त्र बलों के राष्ट्र सुरक्षा के दृढ़ संकल्प को दर्शाता है।
इससे पहले समारोह में राष्ट्रपति ने हाकिमपेट वायुसेना स्टेशन और सुलूर स्थित 5 बेस मरम्मत डिपो को निशान प्रदान किया और परेड की सलामी ली।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned