रविवार को तमिलनाडु की सडक़ों पर सन्नाटा, पूर्ण लॉकडाउन में रहा सबकुछ बंद

चाय तक की दुकानें नहीं खुलीं। सडक़ किनारे लगने वाली सब्जी की दुकानों भी नजर नहीं आई।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 30 Aug 2020, 07:44 PM IST

चेन्नई.

तमिलनाडु में कोरोना के बढ़ते कहर को रोकने के लिए रविवार सुबह 5 बजे से शुरू पूर्ण लॉकडाउन में हर तबके के लोगों ने एकजुटता दिखाई। शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में सभी दुकानें बंद रहीं। चाय तक की दुकानें नहीं खुलीं। सडक़ किनारे लगने वाली सब्जी की दुकानों भी नजर नहीं आई।

पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा का पूरे राज्य में असर नजर आया। चेन्नई सहित राज्यभर के सभी जिलों में सब कुछ बंद रहा। चेन्नई में लॉकडाउन के दौरान मेडिकल दुकान और अस्पतालों व जरूरी सेवाओं को छोडकऱ सब कुछ बंद रहा। शहरी व ग्रामीण बाजार और अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के साथ ही निजी सवारी वाहन भी नहीं चले। महीने के सभी रविवार को संपूर्ण बंद होने की घोषणा करा दी गई थी, जिसका परिणाम रहा की दिन भर बाजार की सभी दुकानें पूर्ण रूप से बंद रही। गली-मुहल्लों में भी दिनभर सन्नाटा पसरा रहा।

इस दौरान जगह-जगह पुलिस की मुस्तैदी भी देखने को मिली। चेन्नई में वाहनों की चेकिंग और सडक़ पर निकलने के कारणों को पूछने के कारण तमाम लोग जरूरी काम के बाद भी घरों से बाहर नहीं निकले। एक पुलिस अधकारी ने बताया कि सरकार की मंशा के अनुरूप लॉकडाउन का पालन कराने के लिए हर संभव प्रयास किया गया। लगातार गश्त कर पूरे क्षेत्र में नजर रखी गई।

लॉकडाउन के दौरान बगैर मास्क बांधे व बिना वजह वाहन से घूम रहे लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए जुर्माना वसूल किया। सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस के जवान मुस्तैद दिखे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि शासन के आदेश का शत प्रतिशत पालन कराया गया। रविवार को अनलॉक-4 की घोषणा की गई जिसमें पूर्ण लॉकडाउन को आगे लगातार बढ़ाने के संबंध में कोई आदेश नहीं आया है। सोमवार को सभी प्रतिष्ठान सोशल डिस्टेंसिंग व कोरोना सुरक्षा के अन्य मानकों को पूरा कराते हुए खुलेंगे। सभी को मास्क लगाना अनिवार्य होगा।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned