चेन्नई में फाइनेंसिंग समूह पर छापेमारी में 300 करोड़ रुपए की अघोषित आय का पता चला

अधिकारियों ने 9 करोड़ रुपए की बेहिसाबी नकदी जब्त की है।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 25 Sep 2021, 04:50 PM IST

चेन्नई.

आयकर विभाग ने चेन्नई के दो निजी सिंडिकेट फाइनेंसिंग समूहों की तलाशी और जब्ती अभियान के दौरान 300 करोड़ रुपए की अघोषित आय का पता लगाया है। साथ ही अधिकारियों ने 9 करोड़ रुपए की बेहिसाबी नकदी जब्त की है। वित्त मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा है कि विभाग ने 23 सितम्बर को चेन्नई स्थित दो सिंडिकेट फाइनेंस समूहों के 35 परिसरों में तलाशी और जब्ती अभियान चलाया था।

आयकर विभाग के अनुसार, अब तक की तलाशी में 300 करोड़ रुपए से अधिक की अघोषित आय का पता चला है। अब तक 9 करोड़ बेहिसाब नकदी जब्त किए जा चुके हैं। विभाग ने शनिवार को कहा कि फाइनेंसरों और उनके सहयोगियों के परिसर में मिले सबूतों से पता चला है कि इन समूहों ने तमिलनाडु में विभिन्न बड़े कॉरपोरेट घरानों और व्यवसायों को उधार दिया है, जिनमें से एक बड़ा हिस्सा नकद में है। तलाशी के दौरान पता चला कि वे उच्च ब्याज दर वसूल रहे हैं, जिसके एक हिस्से पर कर नहीं लगता है।

समूहों द्वारा अपनाए गए तौर-तरीकों से पता चला कि उधारकर्ताओं द्वारा अधिकांश ब्याज भुगतान नकली बैंक खातों में प्राप्त होते हैं और इसका खुलासा कर उद्देश्यों के लिए नहीं किया गया है। आयकर विभाग ने कहा कि तलाशी के दौरान मिले अन्य सबूतों से इन व्यक्तियों द्वारा कई अघोषित संपत्ति निवेश और अन्य आय में कमी का पता चला है।

income tax
PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned