जयललिता का आवास वेदा निलयम बना स्मारक

मरीना बीच पर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे.जयललिता के स्मारक के उद्घाटन के एक दिन बाद गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ने जयललिता के पोएस गार्डन आवास वेदा निलयम को स्मारक के रूप में खोल दिया

By: Vishal Kesharwani

Updated: 28 Jan 2021, 04:54 PM IST


-मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण
-कहा अम्मा की जन्मतिथि सरकारी समारोह के रूप में मनाई जाएगी
चेन्नर्ई. मरीना बीच पर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे.जयललिता के स्मारक के उद्घाटन के एक दिन बाद गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ने जयललिता के पोएस गार्डन आवास वेदा निलयम को स्मारक के रूप में खोल दिया। वर्ष 2017 में ईपीएस समूह के साथ विलय करने से पहले उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम द्वारा की गई कुछ मांगों में अम्मा के आवास को स्मारण में तब्दील करना भी शामिल था।

 

ट्रेडिशनल रिबन काटने के बाद मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और कैबिनेट के अन्य मंंत्री स्मारक में प्रवेश कर लैंप जलाया और आवास का दौरा किया। हालांकि मद्रास हाई कोर्ट द्वारा सरकार को आवास में आम लोगों को प्रवेश नहीं देने के दिए गए निर्देशों के कारण एआईएडीएमके कार्यकर्ता निराश हो गए। जिसके परिणाम स्वरूप कार्यकर्ता बाहर ही खड़े थे और आवास के पास फोटो लिया। स्थिति को गंभीरता से लेते हुए पुलिस सुरक्षा बढ़ाई गई थी और आम लोगों के प्रवेश को रोकने के लिए बैरिकेट्स लगाए गए थे। सिर्फ एआईएडीएमके के वरिष्ठ पदाधिकारियों, वीडियो और फोटो जर्नलिस्टों को ही जाने की अनुमति दी गई।

 

इससे पहले पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा 24 फरवरी को अम्मा का जन्मदिन है और उस दिन को सरकारी समारोह के रूप में मनाया जाएगा। अम्मा के निधन के चार साल बाद वेदा निलयम को स्मारक के रूप में तब्दिल किया गया है। उल्लेखनीय है कि मद्रास हाईकोर्ट के न्यायाधीश एन. सेशासाई ने कहा था कि आवास का दरवाजा नहीं खोला जाएगा, क्योंकि उसके अंदर कीमती वस्तु हैं। समारोह आयोजित करने के लिए संपत्ति का दरवाजा खोला जा सकता है। कोर्ट के निर्देशानुसार सरकार ने एक अपील दायर की थी।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned