कालाहस्ती मंदिर 31 मार्च तक बंद, राहु-केतु सर्पदोष निवारण पूजा सेवाएं रद्द

मंदिर प्रशासन ने मंदिर में अभिषेक, चंडी, अनुष्ठान, विवाह समारोह और अर्जित सेवाएं भी पूरी तरह से समाप्त करने का भी निर्णय लिया है। मंदिर के ईओ चंद्रशेखर रेड्डी ने कहा कि इस महीने की 31 तारीख तक सेवाएं रद्द रहेगी। हालांकि भक्तों को प्रवेश द्वार एवं मंदिर के अंदर थर्मल स्क्रीनिंग कर दूर से ही दर्शन करने का मौका दिया जाता है।

कालाहस्ती. देश में कोरोना का प्रभाव इस तरह बढ़ रहा है की देश के बड़े बड़े मंदिरों के कपाट बंद हो गए। यही हाल कालाहस्ती के प्रसिद्ध मंदिर का है। इस मंदिर को आगामी ३१ मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया और इसमें होने वाली राहु-केतु की पूजा एवं सर्पदोष निवारण की पूजा भी रद्द कर दी गई। गौरतलब है कि इस पूजा के लिए विविध राज्यों से भक्त यहां पहुंचते हैं। ऐसे में यहां प्रतिदिन मंदिर में पूजा के लिए पहुंचने वालों को भी निराशा का सामना करना पड़ रहा है। राहु-केतु पूजा मंडप में जहा लाखों भक्तों की भीड़ पूजा करने के लिए जमा होती थी आज वही मंडप सुनसान पड़ा है। इसके साथ ही मंदिर प्रशासन ने मंदिर में अभिषेक, चंडी, अनुष्ठान, विवाह समारोह और अर्जित सेवाएं भी पूरी तरह से समाप्त करने का भी निर्णय लिया है। मंदिर के ईओ चंद्रशेखर रेड्डी ने कहा कि इस महीने की 31 तारीख तक सेवाएं रद्द रहेगी। हालांकि भक्तों को प्रवेश द्वार एवं मंदिर के अंदर थर्मल स्क्रीनिंग कर दूर से ही दर्शन करने का मौका दिया जाता है।
इसके साथ ही मंदिर प्रशासन ने मंदिर में अभिषेक, चंडी, अनुष्ठान, विवाह समारोह और अर्जित सेवाएं भी पूरी तरह से समाप्त करने का भी निर्णय लिया है। मंदिर के ईओ चंद्रशेखर रेड्डी ने कहा कि इस महीने की 31 तारीख तक सेवाएं रद्द रहेगी। हालांकि भक्तों को प्रवेश द्वार एवं मंदिर के अंदर थर्मल स्क्रीनिंग कर दूर से ही दर्शन करने का मौका दिया जाता है।

Dhannalal Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned