scriptKerala's Kudumbashree model a boon for poverty alleviation | गरीबी उन्मूलन के लिए वरदान केरल का कुदुम्बश्री मॉडल | Patrika News

गरीबी उन्मूलन के लिए वरदान केरल का कुदुम्बश्री मॉडल

महिला शक्ति के माध्यम से गरीबी को दूर कर रहा कुदुम्बश्री

- दुनिया का सबसे बड़ा महिला नेटवर्क

चेन्नई

Updated: May 22, 2022 10:25:23 pm

तिरुवनंतपुरम.

कुदुम्बश्री यकीनन दुनिया का सबसे बड़ा महिला नेटवर्क है। इसे 1997 में गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम के रूप में शुरू किया गया था। लेकिन बाद के वर्षों में यह नेटवर्क केरल में महिलाओं के आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण के लिए विभिन्न कार्यक्रमों के साथ एक शानदार आंदोलन के रूप में विकसित हुआ। इस समय नेटवर्क में 45.85 लाख सदस्य हैं। कुदुम्बश्री का गठन पंचायत राज संस्थाओं को विकेंद्रीकरण और शक्तियों के हस्तांतरण के संदर्भ में किया गया था। 1997 में पीपुल्स प्लान कैंपेन के कार्यान्वयन के अगले वर्ष एक विशेष टास्क फोर्स जिसमें एस एम विजयानंद, राज्य शहरी गरीबी उन्मूलन (यूपीए) परियोजना प्रकोष्ठ के तत्कालीन सचिव, टी एम थॉमस इसाक, तत्कालीन सदस्य राज्य योजना बोर्ड शामिल थे तथा नाबार्ड के डॉ प्रकाश बख्शी ने राज्य गरीबी उन्मूलन मिशन (एसपीईएम) की स्थापना की सिफारिश की। प्रस्तावित मिशन का उद्देश्य दस वर्षों की अवधि में राज्य से पूर्ण गरीबी का उन्मूलन करना था।

गरीबी उन्मूलन के लिए वरदान केरल का कुदुम्बश्री मॉडल
गरीबी उन्मूलन के लिए वरदान केरल का कुदुम्बश्री मॉडल

कुदुम्बश्री के पास अपने महिला समुदाय नेटवर्क के लिए त्रि-स्तरीय संरचना है, जिसमें सबसे निचले स्तर पर अयालकुट्टम या पड़ोस समूह (एनएचजी), मध्य स्तर पर क्षेत्र विकास समितियां (एडीएस), और स्थानीय सरकार स्तर पर सामुदायिक विकास समितियां (सीडीएस) हैं। सामुदायिक नेटवर्क का मूल विचार गरीबी उन्मूलन और महिला सशक्तिकरण है। लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित नेतृत्व और समर्थन संरचनाएं 'कुदुम्बश्री परिवार' की अन्य विशेषताएं हैं। 2011 में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत कुदुम्बश्री को राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के रूप में मान्यता दी।

मिशन पंचायत राज संस्थाओं के साथ समानता के साथ काम करता है। यह स्थानीय सरकार में अपनी त्रि-स्तरीय प्रणाली के माध्यम से काम करता है - प्राथमिक स्तर के संगठनों के रूप में एनएचजी, वार्ड स्तर पर एडीएस, और स्थानीय सरकार के स्तर पर सीडीएस।

काफी हद माइक्रोफाइनेंस पर निर्भर

कुदुम्बश्री गरीबी को दूर करने के लिए काफी हद तक माइक्रोफाइनेंस पर निर्भर है। मिशन सूक्ष्म उद्यमों की स्थापना के माध्यम से महिला सशक्तिकरण के लिए काम करता है। राज्य भर में मिशन के तहत लगभग 49,200 सूक्ष्म उद्यम हैं। इनमें से 31,589 व्यक्तिगत इकाइयां और 17,611 समूह उद्यम हैं। प्रारंभ में, उद्यम अचार और करी पाउडर के क्षेत्र में थे। आज, यह निर्माण, ड्राइविंग स्कूल, मैरिज ब्यूरो, हाउसकीपिंग और कंप्यूटर हार्डवेयर जैसे विभिन्न क्षेत्रों को कवर करता है।

मिशन के तहत 20,000 से अधिक महिलाएं भोजनालयों में काम करती हैं। कैफे कुदुंबश्री के रूप में 112 भोजनालयों को ब्रांडेड किया गया है। घर निर्माण पर ध्यान केंद्रित कर रहे 292 निर्माण इकाइयां हैं। कुदुम्बश्री की निर्माण इकाइयां सरकार की लाइफ मिशन आवास योजना में भी लगी हुई हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रा के बीच अनंतनाग में आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी को मारी गोलीकोपनहेगन के शॉपिंग मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग, 7 लोगों की मौत, कई घायलसीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'IND vs ENG: पुजारा के पचासे की बदौलत इंग्लैंड पर बढ़त 257 रनों की, तीसरा दिन रहा भारत के नामRajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.