150 दिन बाद कोयम्बेडु सब्जी मार्केट फिर से खुला, जगह-जगह लगा जाम

- सख्ती हटी लेकिन नियमों का पालन


By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 28 Sep 2020, 06:08 PM IST

चेन्नई.

कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के कारण 5 माह से बंद चल रहा कोयम्बेडु सब्जी मार्केट सोमवार को पहली बार खुला। हालांकिआधिकारिक तौर पर रविवार रात 8 बजे खुल दिया गया था। सोमवार को कोयम्बेडु सब्जी मार्केट के 3000 में से केवल 200 सब्जियों की दुकानें ही खुलीं। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए पुलिस भी अलर्ट रही।

बाजारों के अंदर वाहनों को प्रवेश करने दिया गया, जिसके बाद जगह-जगह पर सडक़ों पर जाम की स्थिति बन गई। कोरोना कलस्टर घोषित किए जाने के बाद मई महीने से कोयम्बेडु सब्जी मार्केट बंद था। ज्ञातव्य है राज्य के दूसरे जिला और अन्य राज्यों से लॉरी पहुंचने के बाद कोयम्बेडु सब्जी मार्केट को देश का सबसे बड़ा कोरोना कलस्टर घोषित मई महीने के शुरूआत में इसे पूरी तरह से बंद कर दिया था।

नियमों का करना होगा पालन
सोशल डिस्टेंसिंग और सरकार के मानदंडों का पालन करना अनविार्य होगा। इससे पहले 18 सितम्बर को पहले चरण में अनाज थोक बाजार को खोलने की अनुमति दी गई थी। अब चरणबद्ध तरीके से रविवार को सब्जी बाजार खोलने की अनुमति मिली। इसके बाद फल और फूलों के बाजार खाले जाएंगे। बाजार बंद होने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। दुकानदारों के सामने भी आर्थिक संकट गहराता जा रहा था। प्रशासन और व्यापारियों के बीच बाजार खोलने को लेकर कई बार वार्ता हुई थी, जिसमें सब्जिों की दुकानें खोलने पर सहमति बनी।

लॉरी चालकों के लिए भी नियम
कोयम्बेडु मार्केट के 12 में से केवल चार प्रवेश द्वार शुरू कि गए है और सभी लॉरी चालक और क्लीनर को थर्मल जांच से गुजरना पड़ेगा। तमिलनाडु के कई जिलों और दूसरे राज्यों से सब्जियों की आवक लॉरी के लिए समय रात 8 बजे से सुबह 5 बजे तक है। सब्जियों की बिक्री शहर के कई हिस्सों से छोटे सब्जी विक्रेताओं के लिए केवल सुबह 5 बजे से 10 बजे के बीच होगी और इस बार केवल 10,000 लोगों को आने की अनुमति है।

व्यापारियों में मायूषी
व्यापारियों को उम्मीद थाी कि रविवार को बाजार खुलने से ग्राहक अधिक संख्या में पहुंचेंगे और खरीदारी भी जमकर होगी। लेकिन, पहले दिन ग्राहकों ने व्यापारियों को मायूस किया। सुबह से खुले बाजारों में कम ही ग्राहक पहुंचें। हालांकि दिन-भर बाजार में चहल-पहल बनी रही। लेकिन, आम दिनों की तुलना में यह संख्या न के बराबर रही। व्यापारियों का कहना है कि मई महीने में बंद हुआ कोयम्बेडु मार्केट 150 दिनों के बाद पहली बार रविवार को बाजार खुले हैं, इसकी जानकारी सभी ग्राहकों में नहीं है। उम्मीद है कि अगले रविवार से भीड़ बढ़ेगी। व्यापारियों ने थोड़ इंतजार करने के बाद दुकानें खोलना शुरू किया।

जगह-जगह लगा जाम
150 दिनों के प्रतिबंध के बाद सोमवार को बाजार खुलते ही कोरोना को लेकर बने नियम कानून धड़ाम हो गए। जगह-जगह जाम लगा रहा। सोशल डिस्टेंसिंग को भी लोग भूले दिखे। सुबह होते ही सब्जी व किराना की दुकान में लोग भीड़ लगाकर नजर आए। हालांकि इनमें ग्राहक कम और बड़े वाहन और लोडिंग-अनलोंडिंग करने वाले मजदूर वर्ग के लोग अधिक थे। दिन जैसे-जैसे चढ़ता गया सडक़ पर भी भीड़ बढ़ती गई। हालांकि ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को ऐसे लोगों पर कार्रवाई भी की है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned