जल संरक्षण से ही जल समस्या का निवारण संभव

जल संरक्षण से ही जल समस्या का निवारण संभव
chennai ctte colllge

Ashok Rajpurohit | Updated: 04 Jul 2019, 08:20:35 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

जल की कमी आज हमारे लिए चिंतनीय है। हमें इस पर सोचना होगा।

जल जीवन का अनिवार्य अंग है। जल के बिना हमारा जीवन असंभव है। जल समस्या का निवारण करना हैं तो हमें जल संरक्षण के उपाय ढूंढने होंगे। सीटीटीई महिला महाविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान महाविद्यालय की हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. ए. तस्लीम बानू ने यह बात कही।
राजस्थान पत्रिका के महाभियान अमृतं जलम् के तहत आयोजित कार्यक्रम के दौरान वे मुख्य वक्ता के रूप में संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि जल हैं तो जीवन है। जल की कमी आज हमारे लिए चिंतनीय है। हमें इस पर सोचना होगा। डॉ. बानू ने कहा कि राजस्थान पत्रिका की ओर से जल संरक्षण को लेकर चलाया जा रहा अमृतं जलम् अभियान सराहनीय है। तमिलनाडु में वर्तमान में जल संकट भयावह है। लोगों को पानी के लिए लम्बा इंतजार करना पड़ रहा है। कई इलाकों मेें दो-दो, तीन-तीन दिन से जलापूर्ति हो रही है। लोगों को पानी के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसे में हमें पानी की बचत को अपनाना होगा। बूंद-बूंद पानी की बचत के लिए हर एक को आगे आना होगा।

राजस्थान पत्रिका चेन्नई के मुख्य उप संपादक अशोकसिंह राजपुरोहित ने राजस्थान पत्रिका के अमृतं जलम् अभियान के बारे में जानकारी दी। छात्रा प्रियदर्शिनी एवं माहिरा बेगम ने कार्यक्रम का संचालन किया। निशीप्रिया ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम के अंत में महाविद्यालय की हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. ए. तस्लीम बानू ने जल संरक्षण की शपथ दिलाई।

.......................
पानी बचाने आगे आएं
मौजूदा दौर में पीने का पानी का संकट पैदा होता जा रहा है। जलाशय व जल ोत सूखने लगे हैं। हमारे लिए यह चिंतनीय है। पानी बचाने के पुराने तरीके फिर से काम में लेने की जरूरत है।
-शिवानी कुमारी, छात्रा।
.............................
पर्यावरण की महत्ता समझें
पौधरोपण अधिकाधिक कर हम पर्यावरण को शुद्ध बना सकते हैं। प्रदूषण को कम करने के लिए एलपीजी उपयोग में लाएं। पौधे लगाएंगे तो बारिश अधिक होगी। काम में लिए पानी को बगीचों में काम में लाएं।
-टी, निवेदा, छात्रा।
................
आने वाली पीढ़ी का सोचें
यदि हमने समय रहते ध्यान नहीं दिया तो आने वाली पीढ़ी के लिए पानी का गंभीर संकट पैदा हो सकता है। हम आवश्यकता से ज्यादा पानी का उपयोग न करें। पानी के महत्व को खुद समझें व दूसरों को भी समझाएं।
-प्रीति, छात्रा।
................
घट रहा भूमिगत जल स्तर
चेन्नई समेत देशभर में भूमिगत जल स्तर गिरता जा रहा है। समूचे देश में पानी को लेकर हालात काफी भयावह है। हमें इस पर ध्यान देना होगा। जागरुकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को सचेत करने की जरूरत है।
-यास्मीन, छात्रा।
..............................
वर्षा जल संग्रहण जरूरी
तमिलनाडु ऐसा राज्य हैं जहांं वर्षा जल संग्रहण के महत्व को सबसे पहले समझा गया। अब इस पर और अधिक जोर देने की जरूरत है। हर घर-संस्थान में वर्षा जल संग्रहण को प्रभावी व अनिवार्य बनाया जाएं।
-शांतनी, छात्रा।
....................
जल संग्रहण की प्राचीन प्रणाली बेहतर
पानी को सहेजने के गुण हमें हमारे बुजुर्गों से सीखने की जरूरत है। किस तरह वे पानी को सहेज कर रखते थे। ऐसे में तब पानी को लेकर इतना संकट नहीं था। हमें फिर से पानी बचाने के लिए प्राचीन पद्धतियां काम में लेनी चाहिए।
-निशीप्रिया, छात्रा।
...........................................

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned