वयस्क अविवाहित जोड़े का होटल में रहना जुर्म नहीं

Madras High Court ने दो वयस्कों के live-in-relationship में होने को अपराध नहीं मानते हुए कहा कि ऐसा वयस्क अविवाहित जोड़ा होटल में कमरा लेकर रहता है तो वह जुर्म नहीं है।

चेन्नई. मद्रास हाईकोर्ट ने दो वयस्कों के लिव-इन-रिलेशिनशिप में होने को अपराध नहीं मानते हुए कहा कि ऐसा वयस्क अविवाहित जोड़ा होटल में कमरा लेकर रहता है तो वह जुर्म नहीं है। हाईकोर्ट के जज एम. एस. रमेश ने एक याचिका की सुनवाई करते हुए हाल में कोयम्बत्तूर जिला कलक्टर को निर्देश दिया कि वह अविनाशी रोड स्थित हिन्दुस्तान अवेन्यू में सील की गई इमारत को हटाए।

जज ने आदेश में कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं है जो विपरीत ***** वाले लोगों को होटल में अतिथि बनकर रहने से रोकता हो। दो वयस्कों का लिव-इन-रिलेशिनशिप में होना भी अपराध नहीं माना जाता है ऐसे में उनका होटल के कमरे में ठहराव भी अपराध नहीं है। ऐसी परिस्थिति में जब कोई काूनन नहीं है तो अविवाहित जोड़े के कमरे में ठहरने को आधार बनाकर इमारत को सील करना पूरी तरह से अवैध है।
यह आदेश गुडग़ांव की माय प्रिफर्ड ट्रांसफार्मेशन एंड हॉस्पिटेलिटी प्राइवेट लिमिटेड की याचिका पर दिए गए। जिला कलक्टर को आदेश हुए है कि वह उक्त पते वाले इमारत से सील हटाएं। हाईकोर्ट ने सील करने की समूची प्रक्रिया को नैसर्गिक न्याय के सिद्धांतों का उल्लंघन माना।

न्यायालय ने कहा कि सील करने से पहले इमारत पर इसकी सूचना भी चस्पा नहीं की गई। याची से किसी भी तरह का स्पष्टीकरण नहीं मांगा गया। प्रशासनिक रूप से ठोस कदम उठाने से पहले याची की उचित सुनवाई होनी चाहिए थी। याची का कहना था कि उक्त पते पर चल रहे होटल की लीज उसके पास है। २५ जून को तहसीलदार व पीलमेडु पुलिस की टीम ने सुबह ग्यारह बजे दबिश दी। जांच में होटल के एक कमरे से शराब की बोतलें मिली। एक अन्य कमरे में एक युवक और युवती थे जो अविवाहित थे। इसके बाद टीम ने बिना किसी लिखित आदेश के इमारत को सील कर दिया। इस वजह से याची ने न्यायालय की शरण ली।

दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जस्टिस रमेश ने कहा कि याची के परिसर में मेहमानों का शराब पीना अवैध नहीं कहा जा सकता। अगर याची ने इनको शराब नहीं बेची है तो हो सकता है अपने कमरों में ठहरे हुए लोग बाहर से खरीद कर लाए हों ऐसे में इसकी अनुमति से कैसे रोका जा सकता है?

MAGAN DARMOLA
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned