शिक्षकों की नियुक्ति की मांग को लेकर विद्यार्थियों ने स्कूल के ताला जड़कर किया प्रदर्शन

दो माह बीतने के बाद भी न तो गीता के विरुद्ध कोई कार्रवाई हुई और न ही उसका स्थानांतरण (transfer) किया गया। इससे गुस्साए विद्यार्थियों (students) व उनके परिजनों ने स्कूल के गेट (school gate) पर ताला लगाकर प्रदर्शन किया।

By: Dhannalal Sharma

Published: 27 Nov 2019, 04:20 PM IST

चेन्नई. यहां कनियम्बाड़ी की तूतीकाड पंचायत स्थित राजकीय प्रारंभिक विद्यालय केे विद्यार्थियों एवं उनके परिजनों ने अतिरिक्त शिक्षकों की नियुक्ति की मांग को लेकर सोमवार को विद्यालय के गेट पर ताजा लगाकर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर प्रदर्शनकारियों ने बताया कि इस विद्यालय में 170 विद्यार्थी पढ़ते हैं। एक से लेकर पाचवें वर्ग तक बच्चों को सिर्फ दो शिक्षक पढ़ा रहे हैं। इससे बच्चे दूसरे स्कूलों के अपेक्षा पढ़ाई में पीछे चल रहे हैं।

शिक्षाधिकारियों को कई बाद दिए आवेदन
परिजनों ने संबधित शिक्षा पदाधिकारियों को कई दफा शिक्षकों की संख्या बढ़ाने की मांग को लेकर आवेदन दिए लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे गुस्साए विद्यार्थियों व उनके परिजनों नेय यह कदम उठाया। प्रदर्शन की जानकारी मिलते ही संबधित शिक्षा अधिकारी मौके पर पहुंचे और समझाइश कर शीघ्र शिक्षकों की नियुक्ति करने का आशवासन दिया। उसके बाद विद्यार्थियों ने प्रदर्शन खत्म कर स्कूल का ताला खोला।

सुनवाई नहीं हुई तो लगाया ताला
उधर आरकाट के निगम स्कूल के बच्चों ने सोमवार को प्रधानाध्यापिका गीता का स्थानातरण करने की मांग को लेकर स्कूल के गेट पर ताला लगाकर प्रदर्शन किया। विद्यार्थियों के परिजनों के अनुसार प्रधानाध्यापिका गीता बच्चों से अक्सर दुव्र्यवहार करती हैं। गत 15 अगस्त को स्कूल में फहराए गए राष्ट्रीय झण्डे को दूसरे दिन तक नहीं उतारने पर ग्रामीणों ने इस विषय पर गीता से पूछा तो उसने उलटा सीधा जवाब दिया जिससे इन लोगों ने 19 अगस्त को कलक्टर को उसके विरुद्ध कारवाई करने एवं स्थानांतरण करने की मांग को लेकर ज्ञापन दिया था।

दो माह बाद भी कार्रवाई नहीं हुई
लेकिन दो माह बीतने के बाद भी न तो गीता के विरुद्ध कोई कार्रवाई हुई और न ही उसका स्थानांतरण किया गया। इससे गुस्साए विद्यार्थियों व उनके परिजनों ने स्कूल के गेट पर ताला लगाकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस ने पहुंचकर समझाइश कर प्रदर्शन खत्म करवाया।

Dhannalal Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned