उच्च न्यायालय ने लगाई शशिकला पुष्पा की गिरफ्तारी पर रोक

उच्च न्यायालय ने लगाई शशिकला पुष्पा की गिरफ्तारी पर रोक
sasikala Suspended

Purushottam Reddy | Updated: 10 Mar 2017, 09:12:00 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

चेन्नई.
मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै पीठ ने 17 मार्च तक राज्यसभा सांसद एल. शशिकला पुष्पा की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। न्यायमूर्ति निशा बानो ने सांसद द्वारा दायर अग्रिम जमानत पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को तिरुनेलवेली जिले की तिसैयनविलै पुलिस को निर्देश दिया कि शुक्रवार तक वह राज्यसभा सांसद एल. शशिकला को गिरफ्तार न करे।
 
गौरतलब है कि 5 मार्च को तिसैयनविलै पुलिस ने उनकी पुरानी नौकरानी भानुमती की शिकायत के आधार पर सांसद तथा उनके पति लिंगेश्वर तिलगम के खिलाफ तमिलनाडु महिला उत्पीडऩ निषेध अधिनियम तथा आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

याचिकाकर्ता महिला ने अपनी याचिका में कहा है कि वह और उसकी बहन ने गत वर्ष इन्हीं आरोपियों के खिलाफ तूतीकोरिन जिले के पुदुकोट्टै स्थित महिला थाने में बाल यौन उत्पीडऩ निषेध अधिनियम तथा आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कराया था।

इस मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए सांसद शशिकला पुष्पा एवं उनके पति ने अग्रिम जमानत के लिए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। जब शुक्रवार को यह मामला सुनवाई के लिए पीठ के समक्ष आया तो याची ने कहा कि उसके और उसके पति के खिलाफ तिसैयनविलै थाने में दर्ज मामलों की मुख्य वजह राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता है। इसका जवाब देते हुए सरकारी वकील ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ पहले से ही मामला लंबित है और ये लोग जांच की कार्रवाई में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहे हैं।

सुनवाई के बाद न्यायालय ने सरकार को जवाबी हलफनामा दायर करने का निर्देश जारी करते हुए कहा कि 17 मार्च तक पुलिस सांसद को गिरफ्तार नहीं कर सकती। यह कहते हुए उन्होंने यह मामला स्थगित कर दिया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned