चेहरे से ज्यादा चरित्र को सुंदर बनाएं

चेहरे से ज्यादा चरित्र को सुंदर बनाएं
Make the character more beautiful than the face

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Jan, 26 2018 08:47:06 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

यहां साई बाबा नगर स्थित तेरापंथ सभा भवन में आयोजित कार्यक्रम में संत ललितप्रभ सागर ने कहा जीवन में महानता सौंदर्य से नहीं, सुंदर चरित्र से आती है इसलि

होसूर।यहां साई बाबा नगर स्थित तेरापंथ सभा भवन में आयोजित कार्यक्रम में संत ललितप्रभ सागर ने कहा जीवन में महानता सौंदर्य से नहीं, सुंदर चरित्र से आती है इसलिए व्यक्ति को चेहरे और पहनावे के सौंदर्य पर ध्यान देने से ज्यादा जीवन की सुंदरता पर ध्यान देना चाहिए।

अगर आपका चेहरा सुंदर है, पर चरित्र नहीं तो आपकी पत्नी दुखी है, अगर आपका चेहरा नहीं, पर चरित्र सुंदर है तो आपकी पत्नी सुखी है और अगर आपका चेहरा और चरित्र दोनों सुंदर है तो याद रखना आपकी पत्नी का स्वर्ग सदा आपके पास है। यद्यपि सिकन्दर का वैभव महान है, पर वह महावीर के त्याग से कभी भी महान नहीं हो सकता है। महावीर ने जब संन्यास लिया तब वे एक छोटे से राज्य के राजकुमार थे, पर अपने महान चरित्र और जीवन के चलते आज भी लाखों लोगों के दिलों में राज कर रहे हैं।

हम चाहे कहीं पर भी रहें, पर ऐसा जीवन जीएं कि हमारे कारण किसी भी आंखों में आंसू न आए। अगर हमारे कारण किसी का दिल दुखता है तो न केवल हम उसके दिल से उतरते हैं वरन ऐसा करके बहुत बड़ा पाप कर लेते हैं।

विनम्र व्यक्ति जहां जाता है सम्मान पाता है। अगर कोई सुंदर और सम्पन्न होने के साथ विनम्र भी है तो वह इंसान के रूप में देवता है। उन्होंने युवाओं से कहा कि भगवान की मूर्ति और संत को प्रणाम करना सरल है, पर उतनी ही श्रद्धा से माता-पिता को प्रणाम करना मुश्किल है।

अपनी वाणी को प्यार भरी बनाएं। प्लीज, थैंक यू, सॉरी जैसे शब्दों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें। किसी को काम बताने से पूर्व प्लीज, काम हो जाने के बाद थैंक यू कहें और कोई गलती हो जाए तो तुरंत सॉरी कह दें, इससे वाणी जादुई बनेगी। कड़वे बोलने वाले मरने के बाद स्वर्ग जाने की सोचते हैं, पर मीठा बोलने वाले जीते जी घर को स्वर्ग बना लेते हैं। जहां टेढ़ा बोलने से सौ काम बिगड़ जाते हैं, वहीं मीठा बोलने से बिगड़े सौ काम संवर जाते हैं।

आरसीसी दिवा लेडीज थ्रोबॉल प्रतियोगिता

ग्रेनाइट और मार्बल्स की ओर से राजस्थानी प्रवासियों के लिए रविवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में ईट्स थ्रो टाइम ४ नाम से एक दिवसीय आरसीसी दिवा वुमेन थ्रोबॉल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। आरसीसी दिवा की अध्यक्ष स्वाति नाहर ने बताया कि प्रतियोगिता में कुल आठ टीमें भाग लेकर अपने कौशल का प्रदर्शन करेंगी। इसमें आरसीसी दिवा के अलावा आरसीसी, आरसीसी प्लेटिनम, आरसीसी मैगनम, आरवाईए कोस्मो सहित बेंगलूरु की टीमें भी हिस्सा लेंगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned