संदिग्ध माओवादी दम्पती तिरुवल्लूर के जंगलों से गिरफ्तार

चंद्रबाबू नायडू की कार विस्फोट मामला्

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 10 Feb 2018, 06:56 PM IST

चेन्नई.

तिरुवल्लूर जिले के पुलरमबाक्कम के निकट शनिवार को गश्ती पुलिस ने महिला और उसके पति को गिरफ्तार किया है। इन पर माओवादी आंदोलन से जुड़े होने का संदेह है। दोनों की पहचान दशरथन और उसकी पत्नी शेनबगवल्ली के रूप में हुई है। पुलिस को दशरथन के भाई की तलाश है जो फरार बताया गया है।


खुफिया सूचना मिलने के बाद तिरुवल्लूर जिला पुलिस अधीक्षक सीबी चक्रवर्ती और पुलिस उपाधीक्षक पुगलेंदी ने अपनी टीम के साथ पुलरमबाक्कम के वन इलाके में वाहनों की जांच शुरू की।

उसी दौरान दशरथन अपनी पत्नी शेनबगवल्ली और भाई वेट्रीवेल के साथ बाइक से जा रहे थे। पुलिस की नाकेबंदी देखकर कथित रूप से वह मुड़कर भागने लगा। उनको भागते हुए देख पुलिसकर्मियों ने पीछा किया और दम्पती को पकड़ लिया जबकि दशरथन का भाई वेट्रीवेल पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। दोनों को गुप्त स्थान पर पर ले जाकर पूछताछ की गई।

वर्ष २००३ में आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू की कार बम से उड़ाने के मामले में शेनबगवल्ली संदिग्ध है।
बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों से शेनबगवल्ली और उसका पति दशरथन दोनों अपने मिशन को कामयाब करने के लिए लोगों की भर्ती करने तिरुवल्लूर आए थे।

दशरथन तिरुवल्लूर जिले का रहने वाला है। पुलिस दम्पती से तिरुवल्लूर और तमिलनाडु के दूसरे क्षेत्रों में उनके प्लान और नेटवर्क के बारे में पूछताछ कर रही है। दोनों पर कई मामले दर्ज हंै।

खुफिया सूचना मिलने के बाद तिरुवल्लूर जिला पुलिस अधीक्षक सीबी चक्रवर्ती और पुलिस उपाधीक्षक पुगलेंदी ने अपनी टीम के साथ पुलरमबाक्कम के वन इलाके में वाहनों की जांच शुरू की।

शेनबगवल्ली और उसका पति दशरथन दोनों अपने मिशन को कामयाब करने के लिए लोगों की भर्ती करने तिरुवल्लूर आए थे। दोनों पर कई मामले दर्ज हंै। दोनों को गुप्त स्थान पर पर ले जाकर पूछताछ की गई। दोनों पर कई मामले दर्ज हंै।

 

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned