राजस्थान के पाली में मेगा टेक्सटाइल पार्क बनाने को लेकर कवायद, प्रवासियों को बिजनस में मिलेगी सहूलियत

राजस्थान के पाली में मेगा टेक्सटाइल पार्क बनाने को लेकर कवायद, प्रवासियों को बिजनस में मिलेगी सहूलियत
- हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार
- पाली सांसद पी.पी. चौधरी की राजस्थान पत्रिका से विशेष बातचीत

By: Ashok Rajpurohit

Updated: 23 Feb 2021, 06:58 PM IST

चेन्नई. राजस्थान के पाली में मेगा टेक्सटाइल पार्क बनाने की आस जगी है। इससे प्रवासियों को बिजनस में सहूलियत मिल सकेगी। हाल ही वित्त मंत्री ने बजट में देश में सात मेगा टेक्सटाइल पार्क बनाने की घोषणा की थी। पाली में क्लाइमेट इसके अनुकूल होने से मेगा टेक्सटाइल पार्क के लिए सबसे बेहतर जगह भी साबित हो सकेगी। इससे आने वाले दिनों में इलाके का विकास और तेज गति से हो सकेगा।
राजस्थान के पाली से भाजपा सांसद पी.पी. चौधरी ने राजस्थान पत्रिका के साथ विशेष बातचीत में कहा कि पाली में फ्रेट कॉरिडोर एवं इण्डस्ट्रीयल कॉरिडोर के बाद अब मेगा टेक्सटाइल पार्क से लोगों को निवेश करने का अच्छा अवसर मिल सकेगा। पाली में मेगा टेक्सटाइल पार्क का मजबूत दावा बताते हुए चौधरी ने कहा कि करीब दस हजार से अधिक का सालाना टर्नओवर है। पाली में करीब आठ दशक से टेक्सटाइल का काम हो रहा है। पाली में टेक्सटाइल पार्क बनने पर उत्पादन इकाइयां लग सकेंगी जिससे कपड़ा स्थानीय स्तर पर तैयार होने से कपड़े की लागत में कमी आ सकेगी।
प्रधानमंत्री को लिखा पत्र
चौधरी ने बताया कि वे पाली में मेगा टेक्सटाइल पार्क को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिख चुके हैं। साथ ही कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी से भी मुलाकात कर पक्ष रखा है। उन्होंने बताया कि पाली में कपडे़ एवं इससे जुड़ी करीब आठ सौ इण्डस्ट्री है। रोजाना करीब एक करोड़ मीटर कपड़ा प्रोसेज किया जा रहा है। हजारों लोगों को इससे रोजगार मिल रहा है। सांसद ने बताया कि मेगा टेक्सटाइल पार्क के बनने से जहां टर्न ओवर में बढ़ोतरी हो सकेगी वहीं अधिक लोगों को रोजगार मिल सकेगा। मौजूदा समय में पाली में बन रहा कपडा देश के कई भागों में सप्लाई किया जा रहा है।
फ्रेट कॉरिडोर से विकसित होगा नया औद्योगिक क्षेत्र
सांसद ने बताया कि दिल्ली-मुंबई फ्रेट कॉरिडोर से पाली जिले में नया औद्योगिक क्षेत्र विकसित हो सकेगा। राजस्थान राज्य औद्योगिक विकास एवं निवेश निगम (रीको) इस परियोजना पर काम शुरू करेगा। इन जगहों पर प्रवासी भी निवेश कर उद्योग स्थापित कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि पाली जिले में पर्यटन की विपुल संभावनाएं हैं। इसे बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। रणकपुर एवं अन्य जगहों पर हैरिटेज होटलों के माध्यम से इन जगहों को डवलप किया जा रहा है।
प्रवासियों की समस्याओं का निराकरण
एक सवाल के जवाब में सांसद ने बताया कि प्रवासियों की समस्याओं का निराकरण लगातार किया जा रहा है। राजस्थान के प्रवासी बड़ी संख्या में दक्षिण में गिरवी एवं ज्वैलरी के व्यापार से जुड़े हुए हैं। कई बार उन्हें पुलिस प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है। इसके लिए समय-समय पर सरकार एवं प्रशासन से बात कर समाधान निकालने का प्रयास किया है।

Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned