तमिलनाडु सियासी घमासान: एमके अलागिरी अगले साल जनवरी में नई पार्टी पर करेंगे फैसला

उन्होंने कहा कि तीन जनवरी को वह समर्थकों के साथ विचार-विमर्श करेंगे और नई राजनीतिक पार्टी लॉन्च करने पर फैसला लेंगे।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 24 Dec 2020, 06:06 PM IST

चेन्नई.

तमिलनाडु में अगले साल वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक घमासान जारी है। एक बार फिर डीएमके के पूर्व प्रमुख एमके अलगिरी सियासी वापसी को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे एमके अलगिरी ने गोपालपुरम निवास में इलाज करा रहीं अपनी मां दयालु अम्माल से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने प्रेसवार्ता में कहा कि तीन जनवरी को वह समर्थकों के साथ विचार-विमर्श करेंगे और नई राजनीतिक पार्टी लॉन्च करने पर फैसला लेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि अगर मेरे समर्थक चाहते हैं कि मैं नई पार्टी लॉन्च करूं तो ऐसा मैं जरूर करूंगा, लेकिन किसी भी कीमत में डीएमके का सपोर्ट नहीं करूंगा। उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि डीएमके की तरफ से मुझे दोबारा पार्टी ज्वाइंन करने के लिए आमंत्रित नहीं किया गया है। एमके अलगिरी तमिलनाडु के पूर्व सीएम एम करुणानिधि के बड़े बेटे है। पार्टी से उन्हें निष्कासित कर दिया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी ने एमके अलगिरी को अपनी पार्टी में शामिल करने के लिए काफी कोशिश की थी। राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी राह तैयार करने में लगी है। अलगिरी ने रजनीकांत से मुलाकत पर कहा- उन्हें पता चला है कि अभिनेता अभी अनाथी की शूटिंग कर रहे। उन्होंने कहा कि वे एक बार हैदराबाद से वापस लौटेंगे तो मैं उनसे मुलाकात करूंगा।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned