47 वर्षीय मां और 28 साल की बेटी को मिली सरकारी नौकरी

आयु पात्रता की शर्त नहीं होने का संयोग

By: P S Kumar

Published: 03 Mar 2019, 06:44 PM IST

  • साथ-साथ गई थी कोचिंग क्लास

चेन्नई. तमिलनाडु सरकार की सेवा में ४७ वर्षीय मां और उनकी २८ साल की बेटी को मौका मिला है जिन्होंने एकसाथ कोचिंग की, परीक्षा लिखी और पास की। यह संयोग इस वजह से बना कि तमिलनाडु लोक सेवा आयोग की चतुर्थ श्रेणी की भर्ती में उच्च शिक्षण योग्यता वालों के लिए उम्र की सीमा तय नहीं थी। तीन बेटियों की मां एन. शांतिलक्ष्मी कला स्नातक (बीए) और बी.एड. है। उनके पति ए. रामचंद्रन का २०१४ में देहांत हो जाने के बाद गुजर-बसर के लिए वे नौकरी तलाशने लगी।

शांतिलक्ष्मी बताती हैं कि वे गृहिणी थी लेकिन पति का स्वर्गवास होने के बाद उन्होंने नौकरी खोजनी शुरू की। वे पिछले साल अपनी बेटी आर. तेनमोझी के साथ तेनी जिले के स्कूल टीचर जी. सेंथिलकुमार द्वारा संचालित नि:शुल्क कोचिंग क्लास जाने लगी। सेंथिल कुमार ने बताया कि शांति यहां अपनी बेटी को प्रवेश दिलाने आई थी लेकिन जब हमने बताया कि वे भी यह परीक्षा लिखती हैं तो उन्होंने भी क्लास आना तय किया। तमिलनाडु लोक सेवा आयोग की चतुर्थ श्रेणी के वर्गीकृत रोजगार की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता दसवीं पास है। ऐसे में जो भी इस न्यूनतम शिक्षा से उच्चतर शैक्षणिक योग्यता रखते हैं उनके लिए आयु सीमा की शर्त लागू नहीं होती।

सेंथिल कुमार ने शांति की तारीफ की कि कोचिंग क्लास के अन्य विद्यार्थी उनकी बेटी के उम्र थे लेकिन इससे वे कभी विचलित नहीं हुईं। उनको जब भी कोई सवाल पूछना होता तो वे बेझिझक खड़ी हो जाती थी। घर में उनकी बेटी शांति की मदद कर देतीं। शांतिलक्ष्मी ने बताया कि उनकी नियुक्ति स्वास्थ्य विभाग में होगी। वे उम्मीद करती हैं कि नियुक्ति तेनी में ही मिल जाए लेकिन अन्य जिलों के लिए भी शांति तैयार है। उनकी बेटी तेनमोझी बीए (तमिल साहित्य) है और उनकी नियुक्ति हिन्दू धर्म व देवस्थान विभाग में होगी।

P S Kumar Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned