नायडू ने कहा, वे प्रधानमंत्री पद के दावेदार नहीं

नायडू ने कहा, वे प्रधानमंत्री पद के दावेदार नहीं

P.S.Vijayaraghavan | Publish: Nov, 10 2018 12:05:41 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

-आन्ध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री नायडू ने की स्टालिन से मुलाकात
-दिया आन्ध्रप्रदेश आने का न्योता
-विपक्षी दलों को भाजपा के खिलाफ एकजुट करने के उद्देश्य को लेकर की मुलाकात

चेन्नई. भाजपा के खिलाफ लामबंद करने को लेकर तेलुगुदेशम (टीडीपी) प्रमुख और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने शुक्रवार को आलवारपेट में डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा विरोधी गठबंधन को लेकर चर्चा की। साथ ही पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने इस बात से इन्कार किया कि भाजपा विरोधी गठबंधन की ओर से वे प्रधानमंत्री पद के दावेदार होंगे। उन्होंने इतना ही कहा कि गठबंधन को मजबूत बनाने के लिए वे केवल सहयोगी की भूमिका अदा कर रहे हैं। उन्होंने स्टालिन को आन्ध्रप्रदेश आने का न्योता दिया। वहीं दिल्ली में आगामी समय में भाजपा के खिलाफ होने वाली बैठक में भी शामिल होने के लिए स्टालिन से अनुरोध किया। इस दौरान डीएमके के वरिष्ठ नेता दुरै मुरुगन, राज्यसभा सदस्य कनिमोझी, डीएमके नेता राजा समेत डीएमके के वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद थे। डीएमके के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि भाजपा के खिलाफ गठबंधन पार्टी में डीएमके को शामिल करने के उद्देश्य से आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री ने स्टालिन से मुलाकात की। इस दौरान इस बात पर मंत्रणा की गई कि कैसे हम भाजपा के खिलाफ एकजुट होकर लड़ सकते हैं। पिछले सप्ताह चंद्रबाबू नायडू ने नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी। राहुल गांधी और चंद्रबाबू नायडू की मुलाकात का स्टालिन ने स्वागत किया था। ट्वीट कर स्टालिन ने कहा था कि राहुल गांधी ने सभी विपक्षी पार्टियों को एक होकर भाजपा को हराने का आग्रह किया है वह जरूरी है। एक दिन पहले ही नायडू ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी एवं पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगोड़ा से मुलाकात की थी। स्टालिन ने कहा कि वे लोकतंत्र को बचाने के लिए भाजपा के खिलाफ लामबंद हुए हैं। नायडू ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि देश खतरे हैं और मौजूदा समय में देश को खतरे से बचाने के लिए वे स्टालिन का समर्थन हासिल करने आए हैं। भाजपा ने लोक संस्थानों का दुरुपयोग किया है और हम एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ लड़ेंगे। देश की आर्थिक व्यवस्था डगमगा चुकी है। बेरोजगारी बढ़ रही है। ऐसे में सभी दल मिलकर देश को बचाने के लिए खड़े हुए हैं। नायडू ने कहा कि डीएमके एवं करुणानिधि के साथ उनके पुराने संबंध रहे हैं। अन्य दलों से गठबंधन के बारे में कहा कि, टीडीपी एवं कांग्रेस पिछले चालीस साल से अलग-अलग हैं लेकिन यह केवल राजनीतिक रूप से अलग थे। अब देश को बचाने के लिए एक हुए हैं। उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि उन्हीं के इशारों पर तमिलनाडु सरकार काम कर रही है।

Ad Block is Banned