तिरुवारूर विवि की शाखा खुलेगी तिरुचि में : कुलपति कृष्णन


- विवि का वुर्चअल दीक्षांत समारोह
- तिरुचि में २५ एकड़ के क्षेत्र में बनेगा नया परिसर

By: P S VIJAY RAGHAVAN

Published: 06 Oct 2021, 06:29 PM IST


तिरुवारूर. तमिलनाडु केंद्रीय विश्वविद्यालय (सीयूटीएन) के कुलपति प्रो. एम. कृष्णन ने बुधवार को जानकारी दी कि तिरुचि में करीब 25 एकड़ के क्षेत्र में विवि की एक शाखा स्थापित की जाएगी।


तिरुवारूर के नीलकुड़ी स्थित विवि परिसर में छठा दीक्षांत समारोह आयोजित हुआ जिसमें केंद्रीय शिक्षा और कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान मुख्य अतिथि और डीआरडीओ के चेयरमैन डा. जी. सतीश रेड्डी विशिष्ट अतिथि थे। वर्चुअल समारोह में स्नातकों और परास्नातकों को पदवियां दी गईं।


डॉ. रेड्डी ने वर्तमान समय में स्टार्ट-अप की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। उन्होंने छात्रों से अनुरोध किया कि शैक्षणिक संस्थानों में मूल अनुसंधानों द्वारा नवाचार के साथ नई प्रौद्योगिकियों का विकास कर उनको डीआरडीओ के समकक्ष बनाएं। ताकि बड़े पैमाने पर उत्पादन का फायदा उद्योग जगत को मिल सके। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति प्रो. जी. पद्मनाभन और विश्वविद्यालय प्रो. एम. कृष्णन व अन्य उपस्थित थे।


सीएम स्टालिन से आश्वासन
कुलपति एम. कृष्णन ने पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से हुई भेंट का उल्लेख करते हुए कहा कि तिरुचि में २५ एकड़ में विवि की शाखा खोलने का निर्णय हुआ है। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय विश्वविद्यालय को हर संभव सहायता मुहैया कराने का वादा किया। तमिलनाडु के अधिक से अधिक छात्रों को लाभ पहुंचाने के लिए यह प्रस्ताव रखा गया है। केंद्र सरकार से केंद्रीय विश्वविद्यालय को आवश्यक वित्तीय आवंटन किया जा रहा है। तमिलनाडु केंद्रीय विश्वविद्यालय में जल्द ही खेलों के लिए एक अलग विभाग होगा और हमने इसके लिए विशेष आवंटन की मांग की है।

२० अक्टूबर से कक्षाएं
समारोह के बाद कुलपति ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया कि कोरोना की वजह से बंद कक्षाओं का संचालन २० अक्टूबर से होगा। कक्षाएं पहले केवल स्नातक तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए शुरू होंगी। कोरोना टीकों की दोनों खुराक ले चुके विद्यार्थियों को ही अनुमति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि 1,596 विद्यार्थियों को पंजीकृत डाक से पदवियां पहुंचाई जाएंगी।

तिरुवारूर विवि की शाखा खुलेगी तिरुचि में : कुलपति कृष्णन
P S VIJAY RAGHAVAN
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned