एनजीओ को शामिल कर नीलगिरी के आदिवासियों को दिया जाएगा टीका

कोरोना महामारी को रोकने के लिए वैक्सीन लगाने पर विभिन्न अभियान चलाए जाने के बावजूद नीलगिरी जिले के आदिवासी वैक्सीन लेने से हिचकिचा रहे हैं

By: Vishal Kesharwani

Published: 09 Jun 2021, 06:59 PM IST


-सरकार की योजना
नीलगिरी. कोरोना महामारी को रोकने के लिए वैक्सीन लगाने पर विभिन्न अभियान चलाए जाने के बावजूद नीलगिरी जिले के आदिवासी वैक्सीन लेने से हिचकिचा रहे हैं। स्थिति को गंभीरता से लेते हुए जिला प्रशासन ने जून के अंत तक सभी पात्र आदिवासियों को वैक्सीन देने के लिए गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) का सहारा लेने का तय किया है। जिला कलक्टर दिव्या ने बताया कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री एम. सुब्रमणियम के निर्देशानुसार प्रशासन ने अपनी योजना में एनजीओ को शामिल करने का तय किया है, ताकि जून के अंत तक सभी आदिवासियों को टीका दिया जा सके। मंत्री ने जिले के लिए पर्याप्त वैक्सीन देने का वादा किया है।

 

रिकॉर्ड के अनुसार जिले के कुरुम्बास, कोटस, टोडास, इरुलस और कट्टूनायकन्स समेत अन्य जगहों में 27 हजार 032 आदिवासी हैं और उनमें से 21 हजार 435 आदिवासी वैक्सीन लेने के पात्र हैं। अब तक 3 हजार 400 आदिवासियों ने वैक्सीन ली है। उन्होंने कहा कि मंत्री के निर्देशानुसार नीलगिरी के टीकाकरण को संतृप्त करने की कार्य योजना भी चल रही है। हमें आदिवासियों के लिए पहले और अन्य लोगों के लिए बाद में टीके की उम्मीद है।

 


-2 लाख लोगों ने ली वैक्सीन
उन्होंने कहा कि जिले भर में वैक्सीन लेने के पात्र लोगों की संख्या 5.८ लाख के आसपास है। उनमें से 2 लाख से अधिक लोगों ने पहले ही वैक्सीन ले ली है। प्रशासन द्वारा आदिवासियों के लिए जागरूकता अभियान भी चलाए जा रहे हैं। पिछले महीने अन्नैकट्टी आदिवासी बस्ती में वैक्सीनेशन कैंप गलाए गए थे और उसके बाद अन्य जगहों पर भी लगाए जा रहे हैं।

 


उल्लेखनीय है कि हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि जून के अंत तक नीलगिरी जिले में रहने वाले सभी आदिवासियों को वैक्सीन दिया जाएगा। इसके लिए विभिन्न उपाय किए जा रहे हैं। आने वाले दिनों में आदिवासियों को वैक्सीन लगाने के लिए 18 हजार डोज जिले में भेजे जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना पर नियंत्रण हो रहा है, लेकिन नीलगिरी और कोयम्बत्तूर सहित 11 जिलों में इसका प्रकोप अभी भी जारी है। स्थिति को गंभीरता से लेते हुए आदिवासियों में वैक्सीन देने का तय किया गया है। उसके अनुरूप कार्य किया जा रहा है और जून के अंत तक यह पूरा हो जाएगा।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned