scriptNo compromise on Governor R N Ravis security says CM M K Stalin | मईलाडुदुरै में हुए प्रदर्शन के दौरान राज्यपाल पर धूल का एक कण भी नहीं गिरा : स्टालिन | Patrika News

मईलाडुदुरै में हुए प्रदर्शन के दौरान राज्यपाल पर धूल का एक कण भी नहीं गिरा : स्टालिन

राज्यपाल आर. एन. रवि की सुरक्षा के साथ समझौते के आरोप में प्रमुख विपक्षी दल अन्नाद्रमुक ने बुधवार को विधानसभा से वॉकआउट किया।

- गवर्नर के नाम पर राजनीति नहीं होगी फलदायी
- विधानसभा से अन्नाद्रमुक ने किया वॉकआउट

 

 

चेन्नई

Updated: April 20, 2022 08:10:24 pm

चेन्नई.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने बुधवार को कहा कि मईलाडुदुरै में राज्यपाल आरएन रवि के खिलाफ काले झंडे के विरोध के दौरान उन पर "धूल का एक कण" भी नहीं गिरा। विपक्षी दल अन्नाद्रमुक के इस मामले पर राजनीति करने का प्रयास फलदायी साबित नहीं होगा। स्टालिन ने इस मसले पर उनका जवाब सुनने से पहले विपक्ष के वॉकआउट कर जाने पर चुटकी भी ली।

No compromise on Governor R N Ravis security says CM M K Stalin
No compromise on Governor R N Ravis security says CM M K Stalin ,No compromise on Governor R N Ravis security says CM M K Stalin ,No compromise on Governor R N Ravis security says CM M K Stalin

शून्य काल में प्रमुख प्रतिपक्षी दलों अन्नाद्रमुक और भाजपा ने राज्यपाल के काफिले को काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन करने के मामले को सुरक्षा से समझौता बताते हुए डीएमके सरकार पर निशाना साधा था। विपक्षी दल के नेता ईके पलनीस्वामी ने सदन में बुधवार को यह मसला उठाया था और फिर पार्टी सदस्यों ने सहयोगी दल भाजपा के साथ वॉक आउट किया।

चिन्ना रेड्डी का प्रसंग
सीएम स्टालिन ने उनके सरकार पर लगे आरोप के पलटवार में अन्नाद्रमुक को 90 के दशक में तत्कालीन राज्यपाल चिन्ना रेड्डी के काफिले पर हुए तथाकथित हमले का स्मरण कराया कि उस वक्त सत्ता की बागडोर अन्नाद्रमुक के हाथ में थी। तब राज्यपाल को वापस बुलाए जाने को लेकर सदन में प्रस्ताव भी पारित किया गया था।

नहीं हुआ पथराव
मुख्यमंत्री ने एडीजीपी (कानून-व्यवस्था) के हवाले से कहा कि इस दावे में कोई सच्चाई नहीं है कि मंगलवार को मईलाडुदुरै जिले में एक मठ की यात्रा के दौरान राज्यपाल रवि के काफिले पर पत्थर और झंडे फेंके गए। जबकि विपक्ष के नेता और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के. अण्णामलै ने ऐसा आरोप लगाया था। स्टालिन ने आरोपों को "निराधार" बताते हुए खारिज कर दिया। उनके अनुसार पुलिस ने बैरिकेड्स लगा रखे थे और प्रदर्शनकारियों को निश्चित दूरी पर रोक दिया गया था। बाद में, जब उन्हें गिरफ्तार कर वैन में ले जाया गया तो बहस शुरू हुई। फिर उन्होंने प्लास्टिक के पाइप में बंधे काले झंडे लहराए। राज्यपाल के एडीसी (ऐड-डी-कैम्प) ने भी डीजीपी को लिखा है कि काफिला सुरक्षित निकल गया था।

अन्नाद्रमुक पर निशाना
अन्नाद्रमुक पर निशाना साधते हुए स्टालिन ने कहा, "विपक्ष ने इसे राजनीति करने के एक मौके के रूप में देखा जो राजनीतिक दलों के लिए बेहद सामान्य बात है"। इस मसले पर अन्नाद्रमुक समन्वयक ओ पन्नीरसेल्वम और संयुक्त समन्वयक पलनीस्वामी के अलग-अलग बयान इसके पर्याप्त सबूत हैं कि मसले के राजनीतिकरण का प्रयास हुआ है।

सुरक्षा में आईजी और 6 एसपी
स्टालिन ने राज्यपाल के लिए किए गए सुरक्षा उपायों का सदन में विवरण पेश किया कि मध्य क्षेत्र के आईजी, दो डीआईजी और 6 एसपी अधिकारियों सहित 1200 पुलिसकर्मियों को सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किया गया था। "भले ही विरोध लोकतांत्रिक रहा हो, लेकिन इस सरकार ने राज्यपाल की सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाए हैं। यह सरकार राज्यपाल की सुरक्षा सुनिश्चित करने में कोई समझौता नहीं करेगी। विपक्ष के नेता और उप नेता को लगता है कि वे राज्यपाल का इस्तेमाल कर इस मामले पर राजनीति कर सकते हैं। वे यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि यह द्रमुक सरकार ऐसा कतई नहीं होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Eknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयबीजेपी नेता कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल में लिखा - 'हम तुम्हें जीने नहीं देंगे'हैदराबाद के एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे RCP सिंह तो BJP में शामिल होने की लगने लगी अटकलें, भाजपा ने कही ये बातप्रदेश के भोपाल, इंदौर समेत 11 नगर निगमों में मतदान 6 को, चुनावी शोर थमाकानपुर मेट्रो: टनल बनाने का काम शुरू, देश को समर्पित करने के विषय में मिली ये जानकारीउदयपुर कन्हैया हत्याकांड का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर युवक गिरफ्तारवरिष्ठता क्रम सही करने आरक्षकों की याचिका पर विभाग को 21 दिन में निर्णय लेने का आदेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.