हिन्दू अतिवाद वाली टिप्पणी में कुछ गलत नहीं: कमल हासन

हिन्दू अतिवाद वाली टिप्पणी में कुछ गलत नहीं: कमल हासन

Mukesh Kumar Sharma | Publish: May, 18 2019 12:47:24 AM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

राज्य की चार विधानसभा सीटों पर रविवार को होने वाले उपचुनाव में प्रचार करने के बाद शुक्रवार को मक्कल नीदि मय्यम के संस्थापक अध्यक्ष अभिनेता...

चेन्नई।राज्य की चार विधानसभा सीटों पर रविवार को होने वाले उपचुनाव में प्रचार करने के बाद शुक्रवार को मक्कल नीदि मय्यम के संस्थापक अध्यक्ष अभिनेता कमल हासन वापस चेन्नई आ गए। उन्होंने पत्रकारों द्वारा अपने विवादास्पद बयान को लेकर पूछे गए कई सवालों का जवाब दिया। कहा उन्होंने पहली बार ही हिन्दू अतिवादी को लेकर चर्चा नहीं किया बल्कि इससे पहले भी कई बार कर चुके हैं।
मरीना बीच के पास उन्होंने नाथूराम गौड़से को लेकर टिप्पणी की थी, लेकिन राजनीतिक लाभ के लिए उस मुद्दे को अब उठाया जा रहा है।

मरीना बीच पर सभी धर्मो में विश्वास रखने वाले लोग इकठ्ठे हुए थे और उस समय जब इस मुद्दे पर बयान दिया तो किसी को परेशानी नहीं हुई, लेकिन अब हो रही है। जो भी मैंने कहा उसमें कुछ भी गलत नहीं है। शायद जिन लोगों को मेरे बयान से अब दुख हो रहा है उन लोगों को पहले लोकसभा चुनाव जीतने का पूरा यकीन था, लेकिन अब जब उन्हें पता चल गया कि वे लोग असफल होने वाले है तो मेरे बयान पर राजनीतिकरण कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ उत्पन्न हुई हिंसा को जानबूझकर बढ़ाया जा रहा है। तीन दिन तक तो कुछ नहीं हुआ लेकिन अचानक मुद्दा गरमा गया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी जिसमें उन्होंने कहा था कि हिन्दू आतंकवादी नहीं हो सकते, पर मुझे जवाब देने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इतिहास कहता है हर धर्म में कभी न कभी अतिवाद हुए हैं और प्रधानमंत्री के सवाल को इतिहास से जवाब मिल जाएगा।

उन्होंने कहा कि एआईएडीएमके नेता और राज्य के डेयरी विकास मंत्री की टिप्पणी, जिसमें उन्होंने मेरी जुबान काटने की बात कही थी, पर भी मंै प्रतिक्रिया नहीं करना चाहता, क्योंकि मुझे राजनीतिक छेड़छाड़ में शामिल नहीं होना है।

अग्रिम जमानत याचिका पर उन्होंने कहा कि उन्हें बहुत से इलाकों में चुनाव प्रचार करना था इसलिए वे नहीं चाहते थे कि उन पर किसी प्रकार का प्रतिबंध लगे। उन्होंने कहा कि उन्हें गिराफ्तारी से डर नहीं लगता, लेकिन गिरफ्तारी से तनाव की स्थिति बढ़ जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा २३ मई को गैर भाजपाई पार्टियों की बुलाई गई बैठक में उनकी पार्टी को आमंत्रित नहीं किया गया है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned