ओला इलेक्ट्रिक ने 10 करोड़ डॉलर जुटाने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा से किया समझौता

ओला ने पिछले साल दिसम्बर में कहा था कि वह कारखाने के पहले चरण की स्थापना के लिए 2,400 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 12 Jul 2021, 07:14 PM IST

चेन्नई.

ओला इलेक्ट्रिक ने सोमवार को कहा कि उसने 10 करोड़ अमरीकी डॉलर यानी (करीब 744.5 करोड़ रुपए) जुटाने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) के साथ 10 साल की अवधि के लिए ऋण वित्तपोषण समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि 10 करोड़ अमरीकी डॉलर का 10 साल का कर्ज ओला फ्यूचरफैक्ट्री के पहले चरण के वित्त पोषण के लिए है। फ्यूचरफैक्ट्री इलेक्ट्रिक दुपहिया वाहनों के लिए ओला का वैश्विक विनिर्माण केंद्र है। ओला ने पिछले साल दिसम्बर में कहा था कि वह कारखाने के पहले चरण की स्थापना के लिए 2,400 करोड़ रुपए का निवेश करेगी।

ओला के चेयरमैन और ग्रुप सीईओ भाविश अग्रवाल ने कहा, ओला और बैंक ऑफ बड़ौदा के बीच दीर्घकालिक ऋण वित्तपोषण के लिए आज हुआ समझौता रिकॉर्ड समय में दुनिया के सबसे बड़े दुपहिया वाहन विनिर्माण संयंत्र की स्थापना की हमारी योजनाओं में संस्थागत उधारदाताओं के विश्वास का संकेत देता है। उन्होंने कहा, हम दुनिया के लिए टिकाऊ गतिशीलता और भारत में निर्मित ईवी के विनिर्माण में तेजी लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और हमें खुशी है कि बैंक ऑफ बड़ौदा हमारी यात्रा में शामिल हो गया है।

ओला फ्यूचरफैक्ट्री की स्थापना तमिलनाडु में 500 एकड़ भूमि पर की जा रही है। इस संयंत्र की क्षमता हर साल एक करोड़ वाहनों के विनिर्माण की है, जो दुनिया की सबसे बड़ी दोपहिया फैक्ट्री होगी।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned