कोरोना महामारी के दौरान सरकारी अस्पतालों में 20 हजार से अधिक मरीजों का हुआ डायलिसिस: विजयभास्कर

विजयभास्कर ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी के दौरान गत मार्च से अब तक राज्य के सरकारी और सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में 1077 कोरोना मरीजों के साथ कुल 20 हजार 550 लोगों का डायलिसिस हुआ है।

By: Vishal Kesharwani

Published: 25 Aug 2020, 05:24 PM IST


चेन्नई. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सी. विजयभास्कर ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी के दौरान गत मार्च से अब तक राज्य के सरकारी और सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में 1077 कोरोना मरीजों के साथ कुल 20 हजार 550 लोगों का डायलिसिस हुआ है। यहां जारी एक विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कोरोना वायरस के दौरान राज्य सरकार द्वारा मरीजों को बिना किसी बाधा के विशेष उपचार प्रदान किया जा रहा है। सरकारी मेडिकल कॉलेजों में डायलिसिस कराने वालों के अलावा 1347 लोगों का एंजियोग्राम हुआ जिसमें से 439 लोगों की एंजियोप्लास्टी की गई।

 

कोरोना की चपेट में आई 4154 गर्भवती महिलाओं का भी इलाज हुआ और 37 हजार 436 बच्चों को भी उचित उपचार प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि 805 रक्तदान शिविर लगाए गए जिसके माध्यम से 88,280 यूनिट रक्त एकत्रित किए गए। विजयभास्कर ने कहा महामारी के दौरान विशेष उपचार और स्वास्थ्य सेवाओं की निर्बाध उपलब्धता ने कई लोगों की जान बचाने का मार्ग प्रशस्त किया है। महामारी की वजह से मरीज निजी अस्पताल नहीं जा पा रहे हैं। जिसके परिणाम स्वरूप सरकारी अस्पताल और डॉक्टरों द्वारा लोगों के लिए अतिरिक्त सेवाएं दी जा रही हैं। इस प्रकार से सरकार अपनी सेवाओं को जारी रखे हुए है।

COVID-19 virus
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned