TAMILNADU: हिन्दी के विरोध में २० को निर्धारित राज्यव्यापी प्रदर्शन में डीएमके कार्यकर्ता हो शामिल: स्टालिन

TAMILNADU: हिन्दी के विरोध में २० को निर्धारित राज्यव्यापी प्रदर्शन में डीएमके कार्यकर्ता हो शामिल: स्टालिन
TAMILNADU: हिन्दी के विरोध में २० को निर्धारित राज्यव्यापी प्रदर्शन में डीएमके कार्यकर्ता हो शामिल: स्टालिन

Vishal Kesharwani | Updated: 17 Sep 2019, 04:14:33 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

Stalin said that We are not against any language, लेकिन किसी अन्य भाषा को तमिलों पर थोपने की अनुमति भी नहीं दी जाएगी।

हिन्दी के विरोध में २० को निर्धारित राज्यव्यापी प्रदर्शन में डीएमके कार्यकर्ता हो शामिल: स्टालिन
चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने मंगलवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से हिन्दी के विरोध और केंद्र सरकार की नीति व उसके प्रक्रिया की निंदा करने के लिए २० सितंबर को निर्धारित राज्यव्यापी प्रदर्शन में शामिल होने का आग्रह किया। पार्टी कार्यकर्ताओं को लिखे एक पत्र में स्टालिन ने कहा आज डीएमके का ७०वां स्थापना दिवस और पेरियार की जयंती है। इस अवसर पर मैं कार्यकर्ताओं से पार्टी के लिए कुछ आयोजित करने की बात नहीं कर रहा हूं, बल्कि केंद्र के नीतियों के खिलाफ निर्धारित राज्यव्यापी प्रदर्शन में भारी संख्या में शामिल होने की मांग कर रहा हूं।

वर्ष १९३७ में भी हुआ था प्रदर्शन
वर्ष १९३७ और १९६५ में तमिलनाडु में हुए हिन्दी विरोध प्रदर्शन को याद करते हुए स्टालिन ने कहा राज्य में हिन्दी थोपने की कोशिश को रोकने के लिए सिर्फ डीएमके ही प्रदर्शन को आगे ले जा सकती है।


किसी भाषा का विरोध नहीं करता
उन्होंने कहा कि वे किसी भाषा के विरोध में नहीं है, लेकिन किसी अन्य भाषा को तमिलों पर थोपने की अनुमति भी नहीं दी जाएगी। गत १४ सितंबर को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जो बयान दिया था उससे साफ पता चलता है कि हिन्दी नहीं बोलने वाले लोगों को द्वितीय श्रेयी के नागरिक के तौर पर देखा जा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned