तनाव दूर करने के लिए नृत्य व गायन, स्क्रीन पर देख रहे फिल्में

- कोविड केयर सेन्टर को बदल दिया कोरोना भगाने की पाठशाला
- कोरोना वायरस से मुकाबले की अनूठी पहल

By: Ashok Rajpurohit

Published: 13 Aug 2020, 11:14 PM IST

कोयम्बत्तूर. वे नृत्य करते है, गाने गाते हैं, स्क्रीन पर फिल्में भी देखते हैं। आप सोच रहे होंगे कि कोई मनोरंजक स्थल होगा या फिर कोई सीखने की पाठशाला होगी। नहीं, यह कोविड-19 के संक्रमितों के लिए बनाया गया कोविड-19 उपचार स्थल है। कोयम्बत्तूर के कोडिसिया ट्रेड सेन्टर में बने कोविड-19 उपचार सुविधा केन्द्र में कुछ ऐसा ही दृश्य देखने को मिल रहा है। यहां बना आडिटोरियम अब इन संक्रमितों के लिए फिल्मी स्क्रीन बन चुका है जहां वे फिल्में देखकर मनोरंजन करने के साथ ही तनाव को कम कर रहे हैं। वे नृत्य एवं गायन के माध्यम से भी खुद को हल्का महसूस कर रहे हैं। कई संक्रमित बेहतरीन नृत्य की प्रस्तुति दे रहे है तो कई मधुर गानों से वातावरण को हल्का-फुल्का बना रहे हैं। तनाव कम करने को वे फिल्में देख रहे हैं तो गाने भी सुन रहे हैं।
डर मिनटों में छूमंतर
इन दिनों लोगों में कोरोना वायरस को लेकर अब भी डर बैठा हुआ है। कोविड-19 के नाम से उनमें अजीब सी हलचल शुरू हो जाती है। लेकिन यह कोविड केयर सेन्टर सभी के लिए मिसाल के रूप में कायम हो चुका है। यहां के संक्रमितों ने सही मायने से रोग से लडऩे की कूवत पैदा कर दी है। उनका जोश व जज्बा निश्चित ही उन्हें कोविड-19 से बाहर निकाल देगा।
सराहना
यहां का दृश्य देखकर यह महसूस ही नहीं होता कि यहां पर कोविड-19 के संक्रमितों को रखा गया है। कभी तो ऐसा लगता है जैसे किसी कार्यक्रम की रिहर्सल चल रही हो। गाने व नृत्य की प्रस्तुति पर बकायदा उनका उत्साहवद्र्धन भी किया जा रहा है। संगीत निर्देशक देवा व पुराने तमिल फिल्म के सुपरहिट गानों, कुत्थु नृत्य पर मानो सबका रोग दूर हो जाता हैं। जब समूचा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है लेकिन यहां का उत्साह देखकर लगता है कि चाहे कैसी भी महामारी हो, वे इसे मात देने की ताकत रखते हैं। उनके डांस व नृत्य को चिकित्सक व चिकित्सा कर्मी भी देखते हैं और सराहना करते हैं।
सोशल मीडिया पर वायरल
इससे पहले भी दिल्ली व बेल्लारी कोविड केयर सेन्टर में भी इसी तरह के डांस के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुके हैं। बेंगलुरु के विक्टोरिया अस्पताल के चिकित्सकों ने भी कोविड-19 के संक्रमितों के इलाज के समय नृत्य के जरिए उनके तनाव को कम करने का फैसला किया था। चेन्नई में चिकित्सकों के एक वीडियो में हैप्पी गाने को वायरल किया गया था। इसी तरह के वीडियो कर्नाटक व केरल में भी कई चिकित्सकों के सामने आए थे जब संक्रमितों के ठीक होने पर उन्हें हंसी के माहौल में विदाई दी गई।

Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned