पेरियार ने इज्जत के साथ जीना सिखाया

राजनीतिक दलों की ओर से पेरियार स्मृति समारोह आयोजित किया गया...

By: Arvind Mohan Sharma

Published: 13 Mar 2018, 01:09 PM IST

पेरियार तमिलनाडु के महान समाज सुधारक थे,उनकी वजह से ही आज दलित , पिछड़े लोग स मान के साथ जीवन जी रहे हैं.,न्होंने आम लोगों को कई कुंठाओं से मुक्ति दिलाने का काम किया...

कोय बत्तूर. शहर के पुलियाकुलम इलाके में सोमवार को विभिन्न राजनीतिक दलों की ओर से पेरियार स्मृति समारोह आयोजित किया गया। द्रविड़ कजग़म, द्रमुक,भारतीय क युनिष्ट पार्टी, माक्र्सवादी क युनिष्ट पार्टी, विदुताई सरुनतैगल सहित अन्य राजनीतिक दलों के सदस्यों ने पेरियार की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस मौके पर आयोजित सभा में वक्ताओं ने कहा कि पेरियार तमिलनाडु के महान समाज सुधारक थे। उनकी वजह से ही आज दलित , पिछड़े लोग स मान के साथ जीवन जी रहे हैं। उन्होंने आम लोगों को कई कुंठाओं से मुक्ति दिलाने का काम किया। इज्जत के साथ जीना सिखाया। वक्ताओं ने कहा कि ऐसे महापुरुष की प्रतिमाओं को गिराने की बात कहना निंदनीय है। इस तरह की अनर्गल बयानबाजी को कतईबर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे समाज में विघटन के हालात पैदा हो सकते हैं। वक्ताओं ने पेरियार के खिलाफ बयान देने पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एच. राजा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।

 

आरक्षण के लिए मूक -बधिरों ने किया प्रदर्शन
कोय बत्तूर. जिले के मूक -बधिरों ने कलक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन किया। उन्होंने राज्य सरकार से राजकीय सेवाओं में एक फीसदी आरक्षण लागू करने की मांग की।जनसुनवाई में बड़ी सं या में जिले भर से पहुंचे मूक बघिरों ने इशारों से अपनी बात समझाई। उनके साथ आए प्रवक्ता ने जिला कलक्टर टीएन हरिहरण को व्यथा बताई।उन्होंने ज्ञापन में केन्द्र व राज्य सरकार से मूक -बधिरों के लिए एक फीसदी आरक्षण को तत्काल लागू करने की मांग की। प्रवक्ता ने बताया कि ये सभी शिक्षित और सभी ने रोजगार कार्यालय में पंजीकरण करा रखा है पर आज तक उन्हें नौकरी के लिए कोई बुलावा पत्र नहीं मिला।

Arvind Mohan Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned