ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ वाम दल, वीसीके राज्य भर में करेंगे प्रदर्शन, राज्य के 31 जिलों में पेट्रोल सौ के पार

ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ वाम दल, वीसीके राज्य भर में करेंगे प्रदर्शन
- राज्य के 31 जिलों में पेट्रोल सौ के पार

By: ASHOK SINGH RAJPUROHIT

Published: 27 Jun 2021, 11:08 PM IST

चेन्नई. तमिलनाडु के 31 जिलों में पेट्रोल की दरें सौ के पार पहुंच चुकी है। वामदलों एवं वीसीके ने ईंधन में बढ़ोतरी के विरोध में 28 से 30 जून तक प्रदर्शन की चेतावनी दी है। दोनों दलों के नेताओं ने जनता से विरोध आंदोलन को सफल बनाने के लिए भारी समर्थन देने और केंद्र सरकार को ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को वापस लेने के लिए मजबूर करने की अपील की।
सीपीआई (एम), सीपीआई, वीसीके और सीपीआई (एमएल) लिबरेशन के नेताओं ने एक संयुक्त बयान में कहा कि पेट्रोल और डीजल सहित ईंधन की कीमतों में रोजाना बढ़ोतरी की जा रही है। भाजपा के नेतृत्व वाली मोदी सरकार यह दिखावा कर रही है कि सरकार नियंत्रित तेल कंपनियां स्वतंत्र रूप से कीमतें निर्धारित करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतें 100 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच चुकी है।
साल के अंत तक 125 रुपए तक पहुंचने के आसार
विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि पेट्रोल की कीमत साल के अंत तक बढ़कर 125 रुपए प्रति लीटर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि लोक कल्याण को देखते हुए विशेषज्ञों का मानना है कि सरकार पेट्रोल और डीजल की कीमतों को कम करने के लिए कर ढांचे में संशोधन कर सकती है।
सभी वर्गों से आगे आने की अपील
केंद्र सरकार को कोविड -19 की जीवन रक्षक दवाओं के अवैध व्यापार को रोकना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जनता को उचित मूल्य पर टीके उपलब्ध हों। उन्होंने मांग की कि चेंगलपट्टू हिंदुस्तान बायोटेक वैक्सीन्स मैन्युफैक्चरिंग कॉम्प्लेक्स तमिलनाडु सरकार को बिना देर किए मुहैया कराया जाए। उन्होंने अपील की कि,लोगों के सभी वर्गों को विरोध आंदोलन में भाग लेना चाहिए। यह जनता के हितों का मामला है।

ASHOK SINGH RAJPUROHIT
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned