कीळड़ी, कौरक्के व आदिचनल्लूर में बनेंगे स्थल संग्रहालय

कीळड़ी में स्थल संगहालय के लिए राज्य सरकार ने एक करोड़ रुपए आवंटित कर दिए हैं

By: Arvind Mohan Sharma

Published: 22 May 2018, 12:55 PM IST

कौरक्के व आदिचनल्लूर में भी स्थल संग्रहालय कायम किए जाने हैं। कीळड़ी में खुदाई के दौरान सदियों पुरानी सामग्री मिली है। यहां पुरातत्व विभाग को अपेक्षा से अधिक सफलता मिली है

कोयम्ब त्तूर. राज्य सरकार पुरातात्विक महत्व के स्थानों से खुदाई के दौरान प्राप्त प्राचीन कलाकृतियों को प्रदर्शित करने के लिए तीन स्थल संग्रहालयों की स्थापना करेगी। ये संग्रहालय कीळड़ी, कौरक्के व आदिचनल्लूर में स्थापित किए जाने हैं। सूत्रों ने बताया कि कीळड़ी में स्थल संगहालय के लिए राज्य सरकार ने एक करोड़ रुपए आवंटित कर दिए हैं। जल्द ही यहां काम शुरु हो जाएगा।इस वर्ष कौरक्के व आदिचनल्लूर में भी स्थल संग्रहालय कायम किए जाने हैं। कीळड़ी में खुदाई के दौरान सदियों पुरानी सामग्री मिली है। यहां पुरातत्व विभाग को अपेक्षा से अधिक सफलता मिली है। बताया जाता है कि पिछले एक माह में 2,200 शिलालेख व अन्य सामग्री हासिल हुई है।

 

पुरातात्विक अन्वेषण के सभी चार चरणों में 7,000 से अधिकशिलालेख व अन्य सामग्री एकत्र किए गए हैं। इनमें से आधी सामग्री तमिलनाडु में हैं, जबकि बाकी को मौसूर में रखा गया है
यहां खुदाई छह महीने तक जारी रहेगी।अब तक पुरातात्विक अन्वेषण के सभी चार चरणों में 7,000 से अधिकशिलालेख व अन्य सामग्री एकत्र किए गए हैं। इनमें से आधी सामग्री तमिलनाडु में हैं, जबकि बाकी को मौसूर में रखा गया है। एक बार संग्रहालय स्थापित हो जाने के बाद यह सभी सामग्री प्रदर्शित की जाएगी।पिछले दिनों कोय बत्तूर में पुलिस संग्रहालय के उद्घाटन के दौरान पुरातत्व विभाग के अधिकारी ने यह जानकारी दी। उनसे यहां के इतिहास व पुरातत्व प्रेमियों ने मुलाकात की थी। उन्होंने कोय बत्तूर के संग्रहालय के बारे में बताया और कहा कि यहां का संग्रहालय नेहरु स्टेडियम की सीढियों के नीचे एक परिसर में संचालित हैं। इसके लिए अलग से भवन बनाए जाने की जरूरत है। राज्य सरकार को यहां के संग्रहालय के विकास के लिए भी राशि आवंटित करनी चाहिए।

Arvind Mohan Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned