PMK-AIADMK में सीट समझौता

पिछले चुनाव अकेले लडऩे वाली पीएमके २३ सीटों पर हुई रजामंद

वन्नियर समुदाय को आरक्षण की मांग पूरी होने के बाद

 

By: P S Kumar

Published: 27 Feb 2021, 08:54 PM IST

चेन्नई. पिछले विधानसभा चुनाव अकेले लडऩे वाली पाट्टाली मक्कल कच्ची (पीएमके) को गठबंधन की अगुवाई कर रही एआईएडीएमके ने २३ सीटें दी हैं। मुख्यमंत्री एडपाड़ी के. पलनीस्वामी और पीएमके संस्थापक डा. एस. रामदास की मौजूदगी में सीट सहमति पत्र पर शनिवार को दस्तखत हुए।


विधानसभा चुनाव २०१६ में पीएमके युवा इकाई के नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. अन्बुमणि रामदास को बतौर सीएम प्रत्याशी मैदान में उतारा गया था। पार्टी को चुनाव में मुंह की खानी पड़ी थी। फिर लोकसभा चुनाव में एआईएडीएमके की अगुवाई वाले एनडीए में शामिल हुई पीएमके ने २०१९ का लोकसभा चुनाव लड़ा।


उस वक्त एआईएडीएमके के संयोजक ओ. पन्नीरसेल्वम व सह-संयोजक पलनीस्वामी ने ७ सीटें दी थी। समझौते के तहत पीएमके को विधानसभा चुनाव तक साथ देने के लिए मनाया गया तथा राज्यसभा की एक अतिरिक्त सीट भी दी गई। इस सीट से डा. अन्बुमणि फिर राज्यसभा सदस्य बने हैं।


विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद एआईएडीएमके सहयोगी दलों के साथ सीट समझौते की प्रक्रिया को पूरी करने में लगी है। गृह मंत्री अमित शाह के आने से पहले पीएमके को सीटें आवंटित कर दी गईं। अब टीएमसी और डीएमडीके को लेकर निर्णय होना है।


पीएमके हुई तैयार
चुनाव से पहले दो से तीन बार पीएमके नेताओं ने मुख्यमंत्री से भेंट की थी कि वन्नियर समुदाय को २० फीसदी का आंतरिक आरक्षण दिया जाए। इसको लेकर पार्टी ने राज्य में भी प्रदर्शन किया था। चुनाव की घोषणा से कुछ घंटों पहले विधानसभा में वन्नियर समुदाय को १०.५ प्रतिशत का आरक्षण देने का विधेयक पारित कर दिया गया। पीएमके ने इसे उसकी जीत बताते हुए एआईएडीएमके गठबंधन में बना रहना तय किया और उसे आवंटित की गई २३ सीटें स्वीकार कर ली।


वन्नियर बहुल वाली पार्टी
पीएमके वन्नियर समुदाय के बहुल वाली पार्टी है। उत्तरी तमिलनाडु में वन्नियर के वोट निर्णायक होते हैं। पार्टी संस्थापक डा. एस. रामदास, राज्यसभा सांसद डा. अन्बुमणि, अध्यक्ष जी. के. मणि और अन्य ने निजी होटल में ओपीएस ओर ईपीएस से मुलाकात की तथा सीट आवंटन की औपचारिकता को पूरा कर लिया। ओपीएस ने कहा कि दोनों पार्टियों ने विस चुनाव साथ लडऩे का निर्णय किया है । पीएमके को २३ सीटें दी गई है।

P S Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned