श्री कुंथुनाथ स्वामी जिनालय में प्राणप्रतिष्ठा

अमर ध्वजा चढ़ाने का लाभ अनसीदेवी साकलचंद सुराणा परिवार ने लिया

By: Arvind Mohan Sharma

Published: 09 Feb 2018, 02:47 PM IST

जयकारों से गूंजता आसमान, भावविभोर होकर नाचते और एक-दूसरे को बधाइयां देते श्रध्दालु। यह नजारा था यहां नवनिर्मित श्री कुंथुनाथ स्वामी जिनालय में प्राणप्रतिष्ठा का,मूलनायक कुंथुनाथ स्वामी, शंखेश्वर पाश्र्वनाथ, चिंतामणि पाश्र्वनाथ, श्री मणिभद्र वीर, श्री नाकोड़ा भैरव, श्री पद्मावती माता, चक्रेश्वरी मां आदि की प्राण प्रतिष्ठा हुई।

ईरोड़. भगवान कुंथुनाथ के जयकारों से गूंजता आसमान, भावविभोर होकर नाचते और एक-दूसरे को बधाइयां देते श्रध्दालु। यह नजारा था यहां नवनिर्मित श्री कुंथुनाथ स्वामी जिनालय में प्राणप्रतिष्ठा का। इस मौके पर मूलनायक कुंथुनाथ स्वामी, शंखेश्वर पाश्र्वनाथ, चिंतामणि पाश्र्वनाथ, श्री मणिभद्र वीर, श्री नाकोड़ा भैरव, श्री पद्मावती माता, चक्रेश्वरी मां आदि की प्राण प्रतिष्ठा हुई। आचार्य अशोकरत्न सूरीश्वर, आचार्य अमरसेन सूरीश्वर, मुनि अजीतसेन विजय आदि ठाणा की निश्रा में बेंगलूरु से आए पण्डितवर्य विक्रम एम शाह एवं नीलेश शाह ने भव्य पंचाह्निका महोत्सव के साथ अष्टोत्ततरी शान्ति स्नात्र आदि बड़े ही हर्षोल्लास पूर्वक, विधि विधान से संपन्न करवाए।

 

अमर ध्वजा चढ़ाने का लाभ अनसीदेवी साकलचंद सुराणा परिवार ने लिया,शाही करबा का लाभ सुकिबाई मोहनलाल करबावाला परिवार ने लिया,र ईरोड, पश्चिम विधायक के.वी.रामलिंगम जिनालय के दर्शन हेतु पधारे। श्री संघ के अध्यक्ष प्रकाश जैन, सचिव ललित करबावला, कोषाध्यक्ष बाबूलाल लुंकड, श्रीपाल बाफना, ललित सांड, नवीन चौधरी, सुरेश करबावाला व अन्य पदाधिकारियों ने स्वागत किया

अमर ध्वजा चढ़ाने का लाभ अनसीदेवी साकलचंद सुराणा परिवार ने लिया। भवन के मुख्य हॉल के उद्घाटन का लाभ तारादेवी धीरजकुमार कोचर परिवार ने लिया। शाही करबा का लाभ सुकिबाई मोहनलाल करबावाला परिवार ने लिया। इस मौके पर ईरोड, पश्चिम विधायक के.वी.रामलिंगम जिनालय के दर्शन हेतु पधारे। श्री संघ के अध्यक्ष प्रकाश जैन, सचिव ललित करबावला, कोषाध्यक्ष बाबूलाल लुंकड, श्रीपाल बाफना, ललित सांड, नवीन चौधरी, सुरेश करबावाला व अन्य पदाधिकारियों ने स्वागत किया।
सभी कार्यक्रमों में श्री संघ के पदाधिकारियों, श्री जिनशासन जैन सेवा मंडल, श्री जिनशासन महिला मंडल व अन्य मंडलों की सहभागिता रही। मुंबई से आए सुप्रसिद्ध संगीतकार निखिल ने भक्ति गीतों की धूम मचाई।

Arvind Mohan Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned