तमिलनाडु में पूर्व मंत्री के आवास पर डीवीएसी ने की छापेमारी, करीब 20 ठिकानों पर हुई कार्रवाई

सतर्कता और भ्रष्टाचार रोधी निदेशालय के अधिकारी भ्रष्टाचार के आरोपों के संबंध में पूर्व मंत्री विजयभास्कर के चेन्नई तथा गृह नगर करुर में स्थित ठिकानों पर तलाशी ले रहे हैं।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 22 Jul 2021, 04:58 PM IST

चेन्नई.

सतर्कता अधिकारियों ने एआईएडीएमके नेता और तमिलनाडु के पूर्व परिवहन मंत्री एमआर विजयभास्कर के करीब 20 ठिकानों पर गुरुवार सुबह छापे मारे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि सतर्कता और भ्रष्टाचार रोधी निदेशालय के अधिकारी भ्रष्टाचार के आरोपों के संबंध में पूर्व मंत्री विजयभास्कर के चेन्नई तथा गृह नगर करुर में स्थित ठिकानों पर तलाशी ले रहे हैं।

विजयभास्कर पूर्ववर्ती एआईएडीएमके सरकार में परिवहन मंत्री थे। तलाशी गुरुवार सुबह से ही चल रही है। सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक निदेशालय (डीवीएसी) के सूत्रों ने बताया कि पूर्व विधानसभा सचिव एम. सेल्वाराज, तत्कालीन समिति अधिकारी पीएसके सिंगारवेलु, अनुभाग अधिकारी एस बालकष्णन और तत्कालीन संयुक्त निदेशक के इंदिरा के परिसरों पर छापामारी जारी है।

डीवीएसी की विज्ञप्ति में कहा गया कि इस सूचना के बाद प्रारंभिक जांच की गई थी कि सेल्वाराज अगस्त 2007 और मार्च 2011 के बीच अपने कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार में शामिल रहे, जिससे सरकारी कोष को भारी नुकसान हुआ। जांच के दौरान पाया गया कि सेल्वराज ने विधानसभा सचिवालय में सचिव के रूप में कार्य करते हुए दिल्ली का दौरा किया था और यह झूठी जानकारी देकर 75 हजार 319 रुपए का दावा किया, कि वह आधिकारिक यात्रा पर गए थे।

इसमें कहा गया कि उन्होंने तमिलनाडु विधायक हॉस्टल नियम 1969 का उल्लंघन करते हुए विधायक हॉस्टल के कमरे भी कथित तौर पर बिना किसी शुल्क के अनधिकत लोगों को दिए थे और सरकार को एक लाख 90 हजार 200 रुपए का नुकसान पहुंचाया।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned