रजनीकांत और कमल हासन की राजनीतिक जोड़ी पर संशय कायम

फिल्मी कॅरियर और निजी जीवन की अपनी मित्रता के मिसाल देने वाले सुपरस्टार रजनीकांत और कमल हासन क्या राजनीतिक जीवन में भी अपनी मैत्री दिखाएंगे? यह वह सवा

By: मुकेश शर्मा

Published: 20 Jan 2018, 10:10 PM IST

चेन्नई।फिल्मी कॅरियर और निजी जीवन की अपनी मित्रता के मिसाल देने वाले सुपरस्टार रजनीकांत और कमल हासन क्या राजनीतिक जीवन में भी अपनी मैत्री दिखाएंगे? यह वह सवाल है जिसे लेकर तमिलनाडु के लोगों में खासी जिज्ञासा है। द्रविड़ दल कतई नहीं चाहेंगे कि कॉलीवुड की दोनों महान हस्तियां एक मंच पर आएं। बहरहाल इनके एक होने में सबसे बड़ी बाधा तो विचारधार की है।

 

रजनीकांत अध्यात्म जगत से नाता रखते हंै तो कमल हासन की सोच में वाम विचारधारा प्रबल है। दोनों राजनीतिक पार्टी शुरू करने का ऐलान कर चुके हैं। इस दिशा में आगे बढ़ते हुए इनका जनसंपर्क अभियान भी शुरू होने वाला है। इस मामले में कमल हासन जो कि रजनीकांत से वरिष्ठ अभिनेता हैं ने पहल की है। वे २१ फरवरी से प्रांतभर में अपना संपर्क अभियान शुरू करने वाले हैं।

रामनाथपुरम से यात्रा

कमल हासन ने कहा कि वे अपने जन्मस्थान रामनाथपुरम यात्रा शुरू करेंगे। यह यात्रा अन्वेषण और अधिगमपरक होगी। इसी दौरान वे अपनी पार्टी का नामकरण करेंगे।
रामनाथपुरम के अलावा वे मदुरै, दिण्डीगुल व अन्य जिलों का भी दौरा करने वाले हैं। यह वे इलाके हैं जहां उनकी फिल्म बिरादरी के विजयकांत का भी दबदबा हुआ करता था। शायद उसी वोट बैंक में वे सेंधमारी का प्रयास करेंगे।

छह महीने में चुनाव हो तो भी तैयार

सुपरस्टार रजनीकांत से जब कमल हासन के इस प्रयाण के बारे में पूछा गया तो उन्होंने शुभकामनाएं देते हुए बुधवार को कहा कि वे और कमल क्या एक साथ आएंगे इस प्रश्न का जवाब समय आने पर पता चलेगा। सुपरस्टार ने स्पष्ट किया कि वे राज्यभर में प्रशंसकों से मिलेंगे जो कि उनके राजनीतिक अभियान का भी हिस्सा है। रजनीकांत ने कमल हासन के नई पार्टी शुरू करने से जुड़े सवाल पर कहा कि उनको इसकी उम्मीद नहीं थी। एक अन्य सवाल पर उनकी प्रतिक्रिया थी कि अगर विधानसभा चुनाव छह महीने में भी होते हैं हम पूरी तरह तैयार हैं।


मलेशिया में थे एक मंच पर

उधर, रजनीकांत के ३१ दिसम्बर को राजनीतिक प्रवेश के ऐलान के बाद उनके प्रशंसक मंडल ने भी जमीनी कार्य शुरू कर दिया है। दोनों ही अभिनेता स्वयं को तमिलनाडु में राजनीतिक विकल्प के रूप में पेश कर रहे हैं। इन दोनों अभिनेताओं की घोषणा मात्र से ही राजनेताओं ने इनके खिलाफ टिप्पणियां करना आरंभ कर दिया है। अब अगर दोनों एक हो जाते हैं तो संभवत: तमिलनाडु में सियासी भूचाल भी आ सकता है जिससे सत्ता परिवर्तन का मार्ग प्रशस्त हो सकता है। दीगर बात यह है कि दोनों ही अभिनेता ने हाल में मलेशिया में नडिगर संघ की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में मंच साझा किया था।

 

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned