कोरोना काल में चेन्नई की राखी खडलोया ने शुरू किया मास्क बनाने का काम, सौ से अधिक वैरायटी के मास्क

कोरोना काल में चेन्नई की राखी खडलोया ने शुरू किया मास्क बनाने का काम, सौ से अधिक वैरायटी के मास्क
- कई महिलाओं को दिया रोजगार, घर पर तैयार हो रहे मास्क

By: ASHOK SINGH RAJPUROHIT

Published: 11 May 2021, 06:48 PM IST

चेन्नई. मन में कुछ करने का संकल्प हो और इरादे मजबूत हो तो आपदा को अवसर में बदला जा सकता है। कोरोना ने कई लोगों की नौकरियां छीन ली और कई लोग बेरोजगार हो गए। कोरोना एवं लॉकडाउन के दौरान राजस्थान मूल की चेन्नई प्रवासी राखी खडलोया ने मास्क बनाने का काम शुरू किया। इससे कई महिलाओं को रोजगार मिल गया। पहले ही महीने उन्होंने करीब आठ हजार मास्क बेचे। उनके पास सौ से अधिक वैरायटी के मास्क है। अब तो कई संस्थाएं उन्हें मास्क बनाने का ऑर्डर दे रही है।
कई संस्थाएं खरीद रही मास्क
राखी खडलोया कहती है, उनका राखी कलेक्शन नाम से बुटिक है और पिछले 15 साल से राखी बनाने का काम कर रही है। कोरोना में हालात विपरित हो गए। लॉकडाउन ने भी असर डाला तो मास्क की बढ़ती डिमांड को देखते हुए घर पर ही मास्क तैयार करना शुरू कर दिया। इस काम में कई महिलाओं को जोड़ दिया। शुद्ध कोटन के बने डिजाइनर मास्क बना कई संस्थाएं खरीद रही है। ऐसे मास्क वे लोगों को वितरित कर रहे हैं। शादी-ब्याह के लिए अलग से मास्क तैयार किए जा रहे हैं। दूल्हे-दुल्हन को उनकी पसंद के अनुसार मास्क तैयार करके दिए जा रहे हैं।
धोकर फिर ले सकते हैं काम में
वे कहती है, सर्जीकल मास्क जहां एक बार ही काम में लिया जा सकता है लेकिन कोटन से बने मास्क साबुन से अच्छी तरह धोने के बाद फिर से काम में ले सकते हैं। कई संस्थान एवं कंपनियां अपना लोगो लगाकर लोगों को मास्क बांट रही है। ऐसे मास्क भी तैयार किए जा रहे हैं। अब तो चेन्नई से बाहर अन्य शहरों से भी मास्क के लिए डिमांड आने लगी है। विभिन्न अलग-अलग रंगों में भी मास्क मुहैया करवाए जा रहे है।
डिजाइनर मास्क बच्चे आसानी से लगा रहे
खडलोया कहती है, मुझमे क्रिएटिविटी बचपन से थी। वह नुस्खा यहां काम आया। हर मास्क के लिए डिजाइन को अलग बनाने के बारे में सोचा। ऐसे करते-करते सौ से अधिक डिजाइन तैयार हो गई। कई लोगों ने अपने अनुसार मास्क बनाने का सुझाव दिया तो इससे भी एक अलग लुक में मास्क बनाने का आइडिया आता गया। खासकर बच्चों एवं युवाओं को डिजाइनर मास्क अधिक पसंद आते हैं और वे इसे आसानी से लगा लेते है। इससे मास्क को लेकर एक जागरुकता का संचार भी हुआ।

Show More
ASHOK SINGH RAJPUROHIT
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned