चेन्नई-कन्याकुमारी ईसीआर रेलवे लाइन परियोजना को रद्द ना करें केंद्र सरकार: रामदास

पीएमके संस्थापक एस. रामदास ने केंद्र सरकार से चेन्नई-कन्याकुमारी ईसीआर रेलवे लाइन की प्रस्तावित योजना को वापस नहीं लेने का आग्रह किया

By: Vishal Kesharwani

Published: 12 Apr 2021, 07:40 PM IST


चेन्नई. पीएमके संस्थापक एस. रामदास ने केंद्र सरकार से चेन्नई-कन्याकुमारी ईसीआर रेलवे लाइन की प्रस्तावित योजना को वापस नहीं लेने का आग्रह किया। यहां जारी एक विज्ञप्ति में उन्होंने कहा जनता के कल्याण और वाणिज्यिक हितों को अनदेखा करते हुए पूर्वी तट रेलवे लाइन परियोजना को खत्म करना अस्वीकार्य होगा। रामदास ने कहा कि जब पीएमके के आर. वेलु केंद्रीय रेल राज्य मंत्री थे तो प्रस्ताव को लागू करते हुए चेन्नई से कड्लूर तक 178 किलोमीटर का ट्रैक बिछाने के लिए 523 करोड़ का आवंटन किया गया था।

 

इसी बीच रामदास ने राज्य सरकार से एक बार फिर से 12वीं कक्षा की प्रस्तावित परीक्षा को रद्द करने की मांग की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए परीक्षाओं को रद्द कर विद्यार्थियों को उनके टेस्ट परिणाम के आधार पर पास घोषित कर दिया जाना चाहिए। इससे पहले शनिवार को भी रामदास ने कोरोना के बढ़ते मामलों को गंभीरता से लेते हुए सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) द्वारा आयोजित होने वाले दसवीं और बारहवीं और राज्य सरकार द्वारा निर्धारित बारहवीं के बोर्ड परीक्षा को रद्द करने की मांग की थी। एक विज्ञप्ति में रामदास ने कहा था कि कोरोना महामारी के बावजूद सीबीएसई अधिकारियों द्वारा दसवीं और बारहवीं की परीक्षा आयोजित करने की तैयारी की जा रही है, जो कि काफी चौकाने वाली बात है।

 

अगर परीक्षा आयोजित करनी ही है तो सीबीएसई को ऑनलाइन के माध्यम से परीक्षा आयोजित करनी चाहिए। राज्य में निर्धारित 12वीं बोर्ड परीक्षा की ओर इशारा करते हुए रामदास ने कहा स्थिति को गंभीरता से लेते हुए निर्धारित परीक्षा को रद्द कर देना चाहिए और सभी विद्यार्थियों को पास घोषित कर देनी चाहिए।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned