scriptअंतिम दिनों तक जनता के लिए संघर्षशील रहे रामोजी : गुलाब कोठारी | Patrika News
चेन्नई

अंतिम दिनों तक जनता के लिए संघर्षशील रहे रामोजी : गुलाब कोठारी

पद्म विभूषण रामोजी राव की स्मृति सभा को किया संबोधित

चेन्नईJun 27, 2024 / 09:52 pm

Satish Sharma

स्मृति सभा में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू से चर्चा करते राजस्थान पत्रिका ग्रुप के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी।

-कोठारी ने कहा कि देश के हर प्रांत में रामोजी जैसी विभूति पैदा हो
-पद्म विभूषण रामोजी राव की स्मृति सभा को किया संबोधित

विजयवाड़ा. अमरावती. आंध्र प्रदेश सरकार की ओर से गुरुवार को पद्म विभूषण रामोजी समूह के संस्थापक रामोजी राव की याद में कृष्णा जिले के कन्नूर में स्मृति सभा का आयोजन किया गया। सभा में राजस्थान पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी ने अपने संस्मरणों को याद किया। कोठारी ने कहा कि, मेरा रामोजी से परिचय करीब 40 साल पुराना है जब मैं एनटी रामाराव के चुनाव लडऩे के दौरान आंध्रप्रदेश आया। इसी दौरान रामोजी की कलम से मेरा परिचय हुआ। मैं उनकी भाषा, उनकी दूरदर्शिता का उदाहरण आज भी भूला नहीं हूं। उनकी कमल में जनता के प्रति दर्द था। वे कई बार इसके लिए सरकार से भी संघर्षरत रहे और यह संघर्ष उनके अंतिम दिनों तक चलता रहा।
कोठारी ने कहा रामोजी एक दृष्टा थे, परम्परा, विज्ञान और आधुनिक जीवन का समावेश थे। फिल्मसिटी परम्परा का योगदान सबके सामने है। हर काल में ईश्वर जनता के हक में लडऩे के लिए विभूति पैदा करता है उनमें से रामोजी एक हैं। देश के हर प्रांत में, हर जिले में रामोजी जैसी विभूति पैदा होनी चाहिए। हमने जब भी अपनी सरकारों से लड़ाई लड़ी तब रामोजी ही सबसे बड़ा संबल रहे। उनका एक संकल्प था मैं रहूं या न रहूं जनता के हित पर आंच नहीं आनी चाहिए। ऐसी विभूति को मै श्रद्धा से नमन करता हूं और ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वे उन्हें अपने चरणों में स्थान दें।
इस अवसर पर राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने रामोजी राव को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किए जाने की मांग की। वहीं डिप्टी सीएम और जनसेना प्रमुख पवन कल्याण ने कहा कि वह 2008 में पहली बार रामोजी राव से मिले थे। उन्होंने कहा कि रामोजी राव के बातचीत के तरीके ने मुझे बहुत प्रभावित किया, वे हमेशा आम लोगों की भलाई के बारे में बात करते थे।
‘ईनाडु’ अखबार के एमडी सीएच किरण ने स्मृति सभा में अपने पिता रामोजी राव के मूल्यों और उनकी दूरदर्शी सोच को साझा किया।

स्मृति सभा में मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, उपमुख्यमंत्री कल्याण, मंत्री नारा लोकेश, रामोजी राव के परिवार के सदस्य, केंद्रीय सूचना मंत्री, एडिटर्स गिल्ड के प्रतिनिधि, सिनेमा और राजनीति की हस्तियां और प्रतिष्ठित पत्रकार सहित 7000 से अधिक विशेष आमंत्रित लोग शामिल हुए। कार्यक्रम में रामोजी राव के जीवन के अनमोल पलों को दर्शाने के लिए फोटो प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।

Hindi News/ Chennai / अंतिम दिनों तक जनता के लिए संघर्षशील रहे रामोजी : गुलाब कोठारी

ट्रेंडिंग वीडियो