विद्यार्थियों को स्कूलों में वाहन लाने की अनुमति नहीं

राज्य सरकार ने राज्य भर के स्कूलों को सख्त आदेश देते हुए कहा कि विद्यार्थियों को स्कूल कैंपस में कार या बाइक लाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

By: Vishal Kesharwani

Published: 19 Mar 2021, 07:58 PM IST


-सरकार ने जारी किया सर्कुलर
चेन्नई. राज्य सरकार ने राज्य भर के स्कूलों को सख्त आदेश देते हुए कहा कि विद्यार्थियों को स्कूल कैंपस में कार या बाइक लाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। स्कूल शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया स्कूल शिक्षा निदेशालय ने सभी मुख्य शिक्षा अधिकारियों को निजी शिक्षण संस्थान समेत सभी शिक्षण संस्थानों को इस संबंध में सर्कुलर जारी कर बच्चों को वाहन चलाने से रोकने का निर्देश दिया है। राज्य सरकार ने कहा कि इस आदेश को प्राथमिकता देकर तत्काल में लागू किया जाना चाहिए।

 

हालांकि विभाग ने सभी स्कूलों को अंडरएज ड्राइविंग के खतरे और प्रभावों के बारे में कई निर्देश और दिशानिर्देश जारी किए थे, लेकिन उसके बावजूद विद्यार्थी अपने अभिभावकों के वाइक से स्कूल आते हैं। एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि पिछले साल ही 50 से अधिक नाबालिग विद्यार्थी सड़क दुर्घटना में लिप्त थे। इसके अलावा कई मामले ऐसे थे जो रिपोर्र्ट में ही नहीं आए। उन्होंने कहा कि सभी मुख्य शिक्षा अधिकारियों को सभी स्कूलों के लिए सर्कुलर जारी कर विद्यार्थियों को बाइक लाने से रोकने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा स्कूलों को विद्यार्थियों को उनके वाहन को कैंपस में पार्क नहीं करने देने का भी निर्देश दिया गया है।

 

इसी प्रकार से स्कूल प्रबंधन को विद्यार्थियों के अभिभावकों से नियमित मुलाकात कर बच्चों को बाइक नहीं देने का आग्रह करने का भी निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा सभी मुख्य शिक्षा अधिकारियों और जिला शिक्षा अधिकारियों को सभी स्कूलों को मोटर वाहन अधिनियम 1988 के अनुसार अंडरऐज ड्राइविंग के जोखिम और खतरों के बारे में जागरूकता पैदा करने को भी कहा गया है। स्कूलों को स्कूल शिक्षा निदेशालय को कार्रवाई की रिपोर्ट पेश करने को भी कहा गया है, जो कि परिवहन विभाग को भेजा जाएगा।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned