शशिकला दोबारा जेल पहुंची

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 13 2017 08:53:17 (IST)

Chennai, Tamil Nadu, India
शशिकला दोबारा जेल पहुंची

एआईएडीएमके प्रमुख के पद से हटाई जा चुकी वीके शशिकला गुरुवार को बेंगलुरु की परप्पना अग्रहारा जेल में रिपोर्ट करने के लिए रवाना हो गईं। शशिकला को यहां अ

चेन्नई।एआईएडीएमके प्रमुख के पद से हटाई जा चुकी वीके शशिकला गुरुवार को बेंगलुरु की परप्पना अग्रहारा जेल में रिपोर्ट करने के लिए रवाना हो गईं। शशिकला को यहां अस्पताल में भर्ती उनके पति को देखने के लिए मिली पैरोल की अवधि बुधवार को खत्म हो गई थी। शशिकला टी. नगर में अपनी करीबी रिश्तेदार कृष्णा प्रिया के आवास से गुरुवार सुबह रवाना हुईं। पैरोल की पांच दिन की अवधि में वह हर दिन अपने पति एम नटराजन से मिलने अस्पताल जाती थीं। नटराजन की गुर्दा और यकृत के प्रत्यारोपण के लिए सर्जरी की गई थी। ग्लेनईगल्स ग्लोबल हेल्थ सिटी के मुताबिक, नटराजन का स्वास्थ्य पहले से बेहतर हो रहा है। इसी अस्पताल में 4 अक्टूबर को नटराजन का अंग प्रत्यारोपण किया गया था। मुख्यमंत्री पलनीस्वामी के नेतृत्व वाले गुट ने शशिकला को पिछले महीने पार्टी से निकाल दिया था।

कार से बेंगलुरु जा रही शशिकला को ट्रेड सेंटर प्वॉइंट सहित कई इलाकों में रुकना पड़ा जहां पार्टी कैडर के लोग उनका स्वागत करने के लिए इंतजार कर रहे थे। पैरोल की शर्तों के मुताबिक, शाम छह बजे तक उन्हें जेल परिसर में रिपोर्ट करना था। आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में उन्हें जेल की सजा सुनाई गई थी। वह फरवरी से परप्पना अग्रहारा जेल में बंद हैं।

उन्हें सात अक्टूबर से 11 अक्टूबर तक आपात पैरोल पर छोड़ा गया था जहां उन्हें कई शर्तों का पालन करना था। इसमें मीडिया से बात न करने का आदेश भी शामिल था।
शशिकला का यह दौरा ऐसे समय में हुआ है जब उनके भतीजे व अन्नाद्रमुक से दरकिनार किए गए नेता टीटीवी दिनाकरण और सीएम पलानीस्वामी व उपमुख्यमंत्री ओ. पनीरसेल्वम के नेतृत्व वाले गुट के बीच दो पत्तियों वाले चिन्ह को हासिल करने की लड़ाई चल रही है। इस चिह्न को चुनाव आयोग ने फ्रीज कर दिया है।

 

श्रीलंकाई नौसेना ने पांच भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार

श्रीलंकाई नौसेना ने गुरुवार को पांच भारतीय मछुआरों को तब गिरफ्तार कर लिया जब वे कथित तौर पर श्रीलंकाई समुद्री सीमा में मछली पकड़ रहे थे, साथ ही उनकी नौकाओं को भी जब्त कर लिया।

मत्स्य पालन के सहायक निदेशक मनिकंडन ने बताया कि मछुआरों को नेदुनथिवु से गिरफ्तार कर मन्नार लेकर जाया गया है। रामेश्वरम मछुआरा संघ के अध्यक्ष एस. एमिरेट ने बताया कि अन्य कुछ मछुआरों को गोली मारने की चेतावनी देकर कांचिथिवु से भगा दिया गया, जिसके बाद लगभग ५० नौकाओं में सवार मछुआरों को बिना मछली पकड़े ही वापस आना पड़ा। गौतरलब है कि इससे पहले ८ अक्टूबर को भी श्रीलंकाई नौसेना ने नागपट्टिनम जिला के १० मछुआरों को गिरफ्तार किया था।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned