वायरस के प्रसार को रोकना है तो नार्थ चेन्नई के लोगों को अन्य जगहों पर अस्थाई तौर पर करें शिफ्ट: स्टालिन

स्टालिन ने मंगलवार को कहा कि नार्थ चेन्नई में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों पर तब तक नियंत्रण करना संभव नहीं होगा जब तक कुछ लोगों को अस्थाई तौर पर कम जनसंख्या वाली जगहों पर शिफ्ट नहीं किया जाता।

By: Vishal Kesharwani

Updated: 05 May 2020, 05:05 PM IST


चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने मंगलवार को कहा कि नार्थ चेन्नई में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों पर तब तक नियंत्रण करना संभव नहीं होगा जब तक कुछ लोगों को अस्थाई तौर पर कम जनसंख्या वाली जगहों पर शिफ्ट नहीं किया जाता। नार्थ चेन्नई में जनसंख्या का घनत्व बहुत ही अधिक है। ऐसे में लोगों को कम जनसंख्या वाली जगहों पर अगर शिफ्ट नहीं किया गया तो वायरस के चैन को तोडऩा संभव नहीं होगा। मंगलवार सुबह तक नार्थ चेन्नई मेंं 855 मामले थे। उन्होंने कहा कि वे जानना चाहते हैं कि कोयम्बेडु मार्केट में जब सामाजिक दूरी का उल्लंघन कर फुटकर और थोक सब्जी विक्रेता व्यापार कर रहे थे तो राज्य सरकार क्या कर रही थी? कोयम्बेडु मार्केट राज्य मेंं सबसे बड़े कोविड 19 क्लस्टर में से एक बन गया है।

 

स्टालिन ने कहा कि गत 24 मार्च को जब राज्य सरकार ने लॉकडाउन की घोषणा की थी तो कोयम्बेडु, ताम्बरम और पेरुनगलातुर बस टर्मिनस में लोगों की काफी भीड़ हो गई थी। इसके बाद गत 25 अप्रैल को चार दिनों के पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा के बाद हजारों लोग कोयम्बेडु मार्केट पहुंचे थे। सरकार चाहती तो ऐसा होने से रोक सकती थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ऐसे में अब लोगों पर किसी प्रकार का आरोप नहीं लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि अब नए मामले सामने आ रहे हैं क्योंकि सिर्फ परीक्षण ही किया जा रहा है। मै जानना चाहता हूं कि क्या कोरोना वायरस का तेजी से प्रसार हो रहा है, या इसलिए ऐसा हो रहा है क्योंकि सरकार अब अधिक लोगों की जांच कर रही है? उन्होंने कहा कि वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार को तत्काल कदम उठाना चाहिए। अधिक से अधिक लोगों की जांच करनी शुरू करनी चाहिए।

Corona virus COVID-19 COVID-19 virus
Show More
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned