मृत मिला छह साल का हाथी, एक पखवाड़े में चार हाथियों की मौत

हाथी की जांच की गई ,लेकिन वह मर चुका था, चिकित्सकीय टीम ने मौत का कारण जानने के लिए उसका विसरा व अन्य अंग निकाले हैं

By: Arvind Mohan Sharma

Published: 16 May 2018, 12:22 PM IST

कोय म्बत्तूर. शहर के पास पेरियानायकनपालयम के जंगल में सुबह एक हाथी मृत मिला। उसकी उम्र करीब छह साल थी। सूत्रों ने बताया कि जंगल की ओर गए कुछ लोगों को हाथी जमीन पर पड़ा दिखाई दिया। लोगों नेवन विभाग के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी और बताया कि शायद हाथी बीमार है। इस पर तत्काल वनविभाग की टीम चिकित्सक के साथमौके पर पहुंची। हाथी की जांच की गई ,लेकिन वह मर चुका था। चिकित्सकीय टीम ने मौत का कारण जानने के लिए उसका विसरा व अन्य अंग निकाले हैं। इन्हें जांच के लिए चेन्नई लैब में भेजा गया है। विभाग ने बताया कि वहां से रिपोर्ट आने पर ही मौत के कारण का पता लग सकेगा।

 

 

12 दिन पहले इरोड के एंथियुर में एक हथिनी की मौत भूख से हुई
इधर मात्र छह साल के हाथी की मौत पर वन्यजीव प्रेमियों ने दुख जताया है। उनका कहना है कि एक पखवाड़े में अंचल में चार हाथियों की मौत हो चुकी है। कोय बत्तूर के पास नरसिंहपुरम के जंगल में सोमवार को बीमारी की वजह से निढाल हालत में मिली हथिनी को उपचार के बाद भी बचाया नहीं जा सका। इसकी आंतों में कीड़े पड़ गए थे। यह इतनी अशक्त हो गई थी कि अपने पैरों पर भी खड़ी नहीं हो पा रही थी। सोमवार को उपचार के साथ शक्तिद्र्धक भोजन व पेय दिया गया।इसे बाद में इसे क्रेन की सहायता से खड़ा करने की कोशिश की पर कामयाबी नहीं मिली।वह बार -बार में गिर रही थी। अंतत: देरशाम यह खड़ी हो गईव जंगल की ओर चली गई।लेकिन मंगलवार को इसकी मौत हो गई।इसी तरह 12 दिन पहले इरोड के एंथियुर में एक हथिनी की मौत भूख से हुई हैं। इसने कई दिनों से कुछ नहीं खाया था।इससे यह कमजोर हो गईव भोजन की तलाश में लंबी दूरी तक नहीं चल सकी। दूसरी घटना में चारे की तलाश में एलांची गांव के एक खेत के पास पहुंचे हाथी की लोहे के तारों की बाड़ में करंट होने से मौत हो गई थी। वन्यजीव प्रेमियों का आरोप है कि कोय बत्तूर व ईरोड इलाके में गर्मी वन्यजीवों के लिए कष्टदायक साबित हो रही हैं। जंगल में जल स्रोत सूख चुके हैं। पानी की तलाश में उन्हें भटकना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा संकट में हाथी हैं।

Arvind Mohan Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned