छह साल पहले 15 लाख की चोरी का आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने सोमवार को छह साल पहले एक होटल के कमरे से चोरी का मामला खोलते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। होटल के...

By: मुकेश शर्मा

Published: 07 Jun 2018, 09:39 PM IST

कोयम्बत्तूर।पुलिस ने सोमवार को छह साल पहले एक होटल के कमरे से चोरी का मामला खोलते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। होटल के कमरे से २० नवम्बर २०१२ को लंदन निवासी एक दम्पती के गहने व नकदी सहित १५ लाख का माल चोरी हुआ था।

सूत्रों ने बताया कि छह साल पहले गांधीपुरम में एक होटल में लंदन निवासी ज्योति व कार्तिकेयन ठहरे हुए थे। घटना की रात वे जब कमरे में लौटे तो वहां रखे १२ लाख व सोने के गहने गायब थे। चोरी की रिपोर्ट पुलिस में दर्जकराने पर होटल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी गई तो उसमें दो जने कमरे से बाहर निकलते दिखाई दी। पुलिस ने इनकी पहचान के लिए भागदौड़ की तो एक की शिनाख्त जयेश व दूसरे की रमेश बनर्जी के रुप में हुई , लेकिन वे चोरी के बाद तमिलनाडु से गायब हो गए।

पुलिस का मानना था कि ये दोनों अंतरराज्यीय चोर गिरोह के गुर्गे हो सकते हैं। पुलिस ने आसपास के राज्यों में इनकी फोटो व वारदातें के बारे में जानकारी साझा की। पिछले दिनों पता लगा कि जयेश को चोरी के मामले में हैदराबाद में गिरफ्तार किया गया है और वह वहां की जेल में बंद है। इस पर कोयम्बत्तूर पुलिस हैदराबाद पहुंची और मजिस्ट्रेट के आर्डर से उसे जेल से गिरफ्तार कर कोयम्बत्तूर ले आई। यहां जयेश से कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने वारदात करना मान लिया। इसे बाद माल की बरामदगी की कोशिशशुरु हुई।

आरोपी ने बताया कि मुम्बई की एक बैंक में उलका लॉकर है। उसमें नकदी व गहने रखे हैं।पुलिस उसे लेकर मुम्बई गई।जहां बैंक के लॉकर से आठ लाख तैतीस हजार की नकदी व १५० ग्राम के सोने के जेवर मिले। पुलिस ने सभी को जब्त कर लिया।जयेश ने बताया कि बाकी राशि मौज मस्ती में खर्च हो गई। कुछ गहने बेच दिए। पुलिस इसके साथी रमेश बनर्जी को गिरफ्तार करने की कोशिश में हैं। साथ ही बेचे गए चोरी के गहनों की बरामदगी के प्रयास किए जा रहे हैं।

अत्याधुनिक सुविधाओं से सजा होगा प्रस्तावित अम्मा स्मारक

राज्य सरकार करोड़ों रुपए की लागत से पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे. जयललिता का स्मारक बनाने की तैयारी कर रही है। अम्मा के इस प्रस्तावित स्मारक पर 50 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एआईएडीएमके संस्थापक एम.जी. रामचंद्रन के निकट तैयार होने वाले इस स्मारक का नाम दी-फोनिएक्स होगा।

पंखे के आकार में बनाए जाने वाले इस स्मारक के प्रवेश द्वार पर शेर की दो मूर्तियां भी होंगी। इसके अलावा स्मारक के आस-पास आकर्षक फुलवारी तथा स्मारक के अंदर जयललिता के फिल्मी तथा राजनीतिक जीवन से जुड़ी यादगार तस्वीरें भी लगाई जाएंगी। इसके अलावा इसमें कई तरह की अत्याधुनिक सुविधाओं की भी व्यवस्था रहेगी।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned