scriptsnake catcher, Not getting permission to catch snake | नहीं मिल रही सांप पकड़ने की अनुमति, मजदूरी कर पेट पालने को मजबूर | Patrika News

नहीं मिल रही सांप पकड़ने की अनुमति, मजदूरी कर पेट पालने को मजबूर

राज्य रकार द्वारा सांपों को पकड़ने की अनुमति देने में अनुचित देरी ने कई लाइसेंसधारी सदस्यों को दिहाड़ी और कूड़ा बीनने वालों तक सीमित कर दिया है।

चेन्नई

Published: March 14, 2022 07:49:00 pm

चेन्नई . 44 साल पुरानी संस्था इरुला स्नेक कैचर्स इंडस्ट्रियल को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड भारत में सांप पकड़ने का काम करती है लेकिन वर्तमान में अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। तमिलनाडु सरकार द्वारा सांपों को पकड़ने की अनुमति देने में अनुचित देरी ने कई लाइसेंसधारी सदस्यों को दिहाड़ी और कूड़ा बीनने वालों तक सीमित कर दिया है। सोसायटी लगातार लाभ कमा रही है। 2016-17 में इसने 3.90 करोड़ रुपए का राजस्व अर्जित कर 1.83 करोड़ रुपए का लाभ कमाया। हालांकि वित्तीय वर्ष समाप्त होने में केवल 20 दिन शेष हैं। सोसायटी को सांप पकड़ने की अनुमति देने वाला जीओ अभी जारी नहीं किया गया है।

नहीं मिल रही सांप पकड़ने की अनुमति मजदूरी कर पेट पालने को मजबूर
नहीं मिल रही सांप पकड़ने की अनुमति मजदूरी कर पेट पालने को मजबूर

इरुला सांपों की गहरी समझ के लिए प्रसिद्ध

वर्तमान में सहकारी समिति में 350 सक्रिय सदस्य हैं, सभी इरुला वन्यजीवों, विशेष रूप से सांपों की गहरी समझ के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। वंडलूर के पास मामबाक्कम गांव के तीसरी पीढ़ी के इरुला सांप पकड़ने वाले सी कार्तिक ने कहा कि वह पिछले छह महीनों से कोई आय नहीं कमा सका है। मैं और मेरी पत्नी दोनों लाइसेंसी सांप पकड़ने वाले हैं और औसतन हर महीने 3,000 रुपए कमाते हैं। अब, मैं एक दिहाड़ी मजदूर के रूप में काम कर रहा हूं।

इरुला सांप पकड़ने वालों ने कहा कि सांपों की कमी के कारण जनता के लिए दैनिक जहर निष्कर्षण शो भी स्थगित कर दिया गया था। इरुला सोसायटी की बैलेंस शीट की समीक्षा से पता चलता है कि पिछले चार साल संघर्षपूर्ण रहे हैं, जिसमें मुनाफा 50 से 90 प्रतिशत तक कम है। उदाहरण के लिए, 2016-17 में, सदस्यों ने 8,300 सांपों को पकड़ा और 1.83 करोड़ रुपए के राजस्व के साथ 3.90 करोड़ रुपए कमाए।

2018-19 में मुनाफा घटकर 26 लाख रुपए

हालांकि, 2018-19 में मुनाफा घटकर 26 लाख रुपए रह गया। 2019-20 में, जब कोविड-19 आया, तो संस्था ने 1.14 करोड़ रुपए का नुकसान दर्ज किया। हर साल अगस्त में, समाज वन विभाग से अनुमति मांगता है, जो सीमित संख्या में लाइसेंस प्रदान करता है और सांपों की संख्या जैसे कारकों के आधार पर पकड़े जा सकने वाले सांपों की संख्या पर प्रतिबंध लगाता है। इरुला को केवल अगस्त और मार्च के बीच सांपों को पकड़ने की अनुमति है।

सांपों को पकड़ने के लिए अस्थायी लाइसेंस

मुख्य वन्यजीव वार्डन शेखर कुमार नीरज ने कहा, वन विभाग ने महीनों पहले बिना जीओ का इंतजार किए सांपों को पकड़ने के लिए अस्थायी लाइसेंस दिया था। अब तक, जहर निकालने के लिए 2,203 सांपों को पकड़ा गया था। शेष सांपों को पकड़ने के लिए अगले कुछ दिनों में जीओ जारी कर दिया जाएगा। हालांकि, सोसायटी के एक अधिकारी ने बताया कि अगर आज अनुमति भी दे दी जाए, तो 20 दिनों में 3,000 सांपों को पकड़ना असंभव है। अप्रेल से अगस्त तक, हम सांपों को पकड़ने में सक्षम नहीं होंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Assam Flood: असम में बारिश और बाढ़ से भीषण तबाही, स्टेशन डूबे, पानी के बहाव में ट्रेन तक पलटीकांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टपूनियां हत्याकांड में बड़ा अपडेट : चौथे दिन भी नहीं हुआ पोस्टमार्टम, शव उठाने को लेकर मृतक के भाई के घर पर चस्पा किया नोटिसहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.