सॉफ्टवेयर इंजीनियरों की ईमानदारी: सडक़ पर मिले जेवरात को असली मालिक को लौटाया

- पुलिस की मदद से पहुंचाया सोना

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 21 Sep 2021, 04:41 PM IST

चेन्नई.

आईटी कंपनी के दो सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने सडक़ पर पड़े मिले सोने के गहने उसके असली मालिक को लौटाकर ईमानदारी की मिसाल कायम की है। दोनों ने पुलिस के माध्यम से जेवरात के असली मालिक को पहुंचा दिया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि यह घटना 18 सितम्बर की है। दरअसल, एस बालसुब्रमण्यम और वी सीनुवासन तमिलनाडु चेन्नई के पेरुम्बाक्कम में एक दुकान पर चाय की चुस्की ले रहे थे, तभी उन्हें सडक़ पर सोने के गहने मिले। जानकारी के अनुसार गहनों का मालिक अपनी जेब से मास्क निकाल रहा था तभी गहने नीचे गिर गए थे।

बालासुब्रमण्यम और सीनुवासन रात करीब साढ़े आठ बजे काम खत्म कर एक चाय की दुकान पर गए। वे चाय की चुस्की ले रहे थे तभी उन्होंने देखा कि एक अंगूठी सडक़ पर पड़ी है। तभी उन्होंने एक और अंगूठी, एक कंगन और एक चेन भी देखी। बालसुब्रमण्यन ने कहा कि जब हमने गहने देखे तो हमने सोने को नहीं छूने का फैसला किया, क्योंकि हमें शक था कि कोई काला जादू कर सकता है और हमें भटकाने के लिए आभूषण फेंक सकता है।

उन्होंने इसकी जांच की कि क्या कोई उनके साथ शरारत कर रहा है और यह भी पूछताछ की कि क्या सोने के आभूषण दुकान के कर्मचारियों के हैं। फिर उन्होंने चाय की दुकान के कर्मचारियों को गहने सौंप दिए और उनसे कहा कि अगर गहनों का असली मालिक इसकी तलाश में आए तो उन्हें सोना दे दें। सबूत के तौर पर उन दोनों ने सोना सौंपतें उस समय तस्वीर खींच ली।

इसके बाद दोनों घर चले गए लेकिन वे चिंतित थे कि क्या सोना असली मालिक तक पहुंच जाएगा या नहीं। आखिरकार वे दोनों दुकान पर वापस आए, दुकान के कर्मचारियों से जेवर ले लिए और पुलिस को सौंप दिए।

सोमवार को मालिक अपना कीमती सामान तलाशते हुए चाय की दुकान पर गया। जिसके बाद उन्हें पेरुम्बाक्कम पुलिस स्टेशन जाने के लिए कहा गया। सोने का मालिक पुलिस स्टेशन पहुंचा और पुष्टि के बाद पुलिस ने उन्हें सोना दे दिया। पुलिस ने भी सोना लौटाने वाले दोनों व्यक्तियों की ईमानदारी और उनके प्रयासों के लिए प्रशंसा की।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned