साहुकारपेट तिहरा हत्याकांड की गुत्थु सुलझी, तीन आरोपी गिरफ्तार

- दो दिन में सुलझाया हत्या का मामला

- तीन अन्य की तलाश जारी

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 13 Nov 2020, 07:35 PM IST

चेन्नई.

साहुकारपेट में घटी सनसनीखेज तिहरे हत्याकांड को सुलझाने का दावा करते हुए चेन्नई पुलिस आयुक्त महेश कुमार अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनकी टीम ने दो दिन के अंदर मामले से जुड़े तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि तीन अन्य की तलाश की जा रही है।

गिरफ्तार आरोपियों में पुणे निवासी कैलाश जलंदर पोखरे (32), रबिन्द्रनाथ कर (32) और शिरडी निवासी विजय उत्तम कोमेल (28) शामिल है। वहीं तीन अन्य आरोपी विकास जलंदर पोखरे, जयमाला और राजू शिंदे की तलाश कर रही है। पुलिस आयुक्त ने बताया कि छह जनें हत्या में शामिल है। इस सनसनीखेज अपराध के बारे में महेश कुमार अग्रवाल ने शुक्रवार को पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया कि हत्या का यह मामला घरेलू विवाद से जुड़ा था।

तलाक के लिए शीतल की पत्नी जयमाला ने 5 करोड़ की मांग की थी जिसके विवाद के चलते हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया। दोनों परिवार के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहा था। चेन्नई और पुणे में दोनों परिवार के बीच कई बार बैठके हुई। कथित तौ पर पर हत्या की वजह घरेलू हिंसा भी माना जा रहा है।

तीन राज्यों की पुलिस से ली मदद
पुलिस आयुक्त के अनुसार बुधवार शाम करीब 7.30 बजे मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस की अलग अलग टीम जांच में जुटी। इस दौरान आंध प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र पुलिस से मदद ली गई। शुक्रवार अलसुबह करीब 2 बजे चेन्नई पुलिस की विशेष टीम ने कैलाश और उसके दो साथियों को महाराष्ट्र के सोलापुर के निकट टोल गेट से गिरफ्तार किया।

एक पिस्टल व कार बरामद
चेन्नई पुलिस ने कैलाश से पिस्टल बरामद कर लिया है जिससे उसने हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। दरअसल, कैलाश अपने साथ .32 बोर की दो पिस्टल साथ ले गया था। कैलाश और उसके साथियों ने दोनों पिस्टल से दलीचंद और उनके परिवार को मौत के घाट उतारा था। पुलिस ने कैलाश के पास से एक पिस्टल बरामद किया है। कैलाश पर उसके गांव में आपराधिक मामले दर्ज है।

कैलाश ने गुनाह कबूला
पुलिस को दिए बयान में कैलाश ने अपना गुनाह कबूल लिया है। उसने कहा है कि उसने साथियों की मदद से बहन जयमाला के पति और उसके परिवार को मारा है। कथित तौर पर शीतल और उसके अभिभावकों का उसकी बहन और परिवार के प्रति दुव्र्यव्हार के प्रतिशोध में यह कदम उठाया है। दोनों का विवाह 15 साल पहले हुआ लेकिन विवाह के बाद से ही विवाद शुरू हो गया। जनवरी में उसकी बहन अपने दो बच्चों को लेकर मायके आ गई।

एक दूसरे पर लगाए आरोप
जयमाला और शीतल का विवाह विच्छेद का मामला कोर्ट में विचाराधीन है। जयमाला ने पुणे में एक अलग मामला दर्ज कराया जिसमें शीतल मानसिक रूप से अस्थिर व्यक्ति है और उसके परिवार ने धोखे से उससे शादी करवाई। उसके बाद शीतल ने भी चेन्नई में शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि उनकी पत्नी के परिवार उन्हें भारी रकम मांगने के साथ धमका रहे थे।

ऐसे बिगड़े हालात
दरअसल, शीतल और जयमाला एक दूसरे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा चुके है, जिसके बाद संबंधों में और ज्यादा खटास आ गया। पुलिस ने कहा कि जयमाला ने अपने परिवार के साथ अपनी दुर्दशा का जिक्र कई बार की, लेकिन घर नहीं जा सकी थी क्योंकि शीतल अपने बच्चों के साथ ले जाने नहीं दे रहा था। आखिरकार इस साल जनवरी में वह अपने माता-पिता के घर पुणे चली गई।

सुलाह कराने आए थे छह जने
पुलिस ने बताया कि घटना वाले दिन छह जने दलीचंद के घर आए थे जिनमें जयमाला, उसके दो भाई और तीन अन्य लोग शामिल थे। परिवार के साथ तीखी कहासुनी के बाद कैलाश ने तीन लोगों को गोली मारकर हत्या कर दी और घटनास्थल से फरार हो गए।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned